Top

कुत्ते का आतंक, 11 ग्रामीणों को बनाया निशाना

Khadim Abbas RizviKhadim Abbas Rizvi   13 Jun 2017 10:06 PM GMT

कुत्ते का आतंक, 11 ग्रामीणों को बनाया निशानाआवारा कुत्तों का आतंक बढ़ गया है। (फाइल फोटो)

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

मीरगंज। मीरगंज के लोग आवार कुत्तों के आतंक से परेशान हैं। मंगलवार को सुबह—सुबह 11 लोगों को आवारा कुत्ते ने काटा है। इसके बाद गांव में दहशत का माहौल बन गया है। लोगों ने इसकी जानकारी तहसील प्रशासन को दी लेकिन कुत्ते को पकड़ने के लिए कोई इंतजाम नहीं किया गया है। सभी घायलों को इलाज मछलीशहर सीएचसी पर कराया गया है।

ये भी पढ़ें- आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2017: बांग्लादेश के ये खिलाड़ी बिगाड़ सकते हैं विराट एंड कंपनी का ‘गणित’

गोधना गांव मंगलवार सुबह सुबह शौच के लिए जा रहे लोगों ने पर एक—एक करके कुत्ते ने हमला किया है। कुत्ते के इस हमले में गांव की सुमन (25) प्रियंका (26) मुन्नीदेवी (40) धर्मराज (64) निर्मला चौहान (60) चमेला (50) अनीता (35) सुनीता (32) नैंसी (8) महबूब भाई (50) अनीता (43) जख्मी हो गए। कुत्ते के हमले की खबर सुनकर लोगों में दहशत का माहौल बन गया है। जख्मी लोगों को मछलीशहर सीएचसी भेजा गया। इसके बाद लोगों ने जिम्मेदार अधिकारियों को कुत्ते को पकड़ने के लिए फोन किया लेकिन कोई नहीं पहुंचा। इसके बाद ग्रामीणों ने खुद मोर्चा संभाला लाठी—डंडे लेकर आवारा कुत्ते की तलाश निकले लेकिन कुत्ता ग्रामीणों के हाथ नहीं आया है। इससे गांव के लोगों में डर का माहौल बना हुआ है।

मछलीशहर तहसील के गोधना गाँव निवासी अखिलेश सिंह (36वर्ष) का कहना है,“ सुबह जब एक दो लोगों पर कुत्ते ने हमला किया तो इसकी शिकायत तहसील में गई लेकिन कोई मोके पर कुत्ते को पकड़ने के लिए नहीं पहुंचा।”

ये भी पढ़ें- टॉयलेट एक प्रेम कथा: अक्षय की फिल्म का ट्रेलर तो आपने देख लिया, शौचालय पर पूरी फिल्म हम आपको दिखाते हैं

वहीं गोधना निवासी संजय दुबे (30वर्ष) ने बताया, “कुत्ते अक्सर ग्रामीणों पर हमला करते हैं लेकिन शिकायत के बावजूद आजतक कभी भी कोई कुत्ते को पकड़ने के लिए नहीं आया। ग्रामीणों को इससे दिक्कत हो रही है।”

ग्रामीणों पर कुत्ते ने हमला किया है। यह मामला संज्ञान में नहीं है। टीम भेजकर कुत्ते को पकड़वाने का काम किया जाएगा।
रमापति बिंद, एसडीएम मछलीशहर

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.