विद्युत संविदा कर्मचारियों ने किया प्रदर्शन 

विद्युत संविदा कर्मचारियों ने  किया प्रदर्शन ललितपुर कम्पनी बाग में एकत्रित कर्मचारियों ने अर्धनग्न होकर विरोध प्रदर्शन किया।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

ललितपुर। विभिन्न मांगों को लेकर विद्युत संविदाकर्मियों का विरोध प्रदर्शन जारी है। शुक्रवार को ललितपुर कम्पनी बाग में एकत्रित कर्मचारियों ने अर्धनग्न होकर विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान उन्होंने जिला परिषद तक मार्च निकाला व जमकर नारेबाजी की। जिला परिषद में अधिकारी न मिलने पर संविदाकर्मी वापस लौट गए।

महरौनी में तैनात संविदाकर्मी सुनील परिहार (38 वर्ष) ने बताया, "आठ माह से सभी संविदाकर्मचारियों का मानदेय नहीं मिला है। मानदेय से पीएफ का रूपया काटा गया, इसके बदले रसीद नहीं दी गई। कई बार इस समस्या से अधिकारियों को अवगत कराया गया, लेकिन समस्या का निदान नहीं हुआ। प्रदर्शन कर रहे सोनू खटीक (उम्र 30 वर्ष) मड़ावरा ने बताया, "होली के पहले एक माह का मानदेय दिया गया था, बाकी सात माह का नहीं। केवल आश्वासन मात्र दिया गया कि, पिछला मानदेय जल्दी क्लीयर कर दिया जायेगा।" जिले में लगभग 140 विद्युत संविदाकर्मचारी करीब सात से आठ वर्षों से काम कर रहे हैं। अधिकारियों कि लापरवाही से हमेशा से संविदाकर्मचारी का शोषण होता रहा है। तैनाती के समय से सुरक्षा उपकरण प्राप्त नहीं हुए।"

जैसे ही विधुत संविदाकर्मचारियों का आंदोलन तेज हुआ, माँगो को लेकर आंदोलन मे प्रतिभाग कर रहे संविदाकर्मचारियों की संख्या कम हुयी, इन्होंने विभाग मे भी काम पर नही गये! ना ही आंदोलन मे प्रतिभाग करने को आये! एक संविदाकर्मचारी नाम ना छापने की शर्त पर बताते है कि "विधुत विभाग के अधिकारियों द्वारा संविदाकर्मचारियों पर दबाव डाला जा रहा है कि आंदोलन छोड कर काम पर वापिस आ जाय, नही तो तुम लोगों को हटाकर नये संविदाकर्मचारियों को नियुक्त कर लिया जायेगा!"

विद्युत विभाग के एक्सीएन गौरव कुमार ने बताया, "विभाग मे महालक्ष्मी इण्टरप्राइजेज आगरा की कम्पनी कार्य कर रही है। ये सब उसी के कर्मचारी हैं। बिजली विभाग के नहीं है। कम्पनी द्धारा यह कर्मचारी संविदा पर कार्य कर रहे हैं। वो आगे बताते हैं, जब से कम्पनी आयी है, तब से PF कट रहा है, जिसका हिसाब किताब विभाग के पास है। वो आगे बताते हैं कि पीएफ की रसीदें हमारे पास हैं, जिसको चाहिए हमसे ले सकता है।"

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top