किसान निजी दुकानों को करें बायकॉट,अब ऑनलाइन पंजीकरण के माध्यम से पायें बीजों पर अनुदान 

Divendra SinghDivendra Singh   22 May 2017 9:31 AM GMT

किसान निजी दुकानों को करें बायकॉट,अब ऑनलाइन पंजीकरण के माध्यम से पायें बीजों पर अनुदान किसान अपना ऑनलाइन पंजीकरण कराकर बीजों पर अनुदान पा सकते हैं।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

लखनऊ। किसानों को सस्ती दर पर प्रमाणित बीज खरीदने के लिए अब निजी दुकानों के चक्कर काटने की जरूरत नहीं होती है। किसान अपना ऑनलाइन पंजीकरण कराकर खरीफ में बोए जाने वाले प्रमाणित संकर बीजों जैसे धान, मक्का और बाजरा आदि के बीजों पर अनुदान पा सकते हैं।

इस योजना के अंर्तगत पहले किसानों को बीज का बाजार मूल्य अदा करना होता है। उसके बाद अनुदान की राशि सीधे किसानों के खाते में भेज दी जाती है। किसान को सरकार की ओर से प्रमाणित बीज खरीदने पर ही यह लाभ मिल सकेगा।

ये भी पढ़ें- धान नर्सरी डालने से पूर्व बीजोपचार जरूर करें

पंजीकृत किसानों को खरीफ में सभी बीजों पर अनुदान डीबीटी के माध्यम से सीधे किसानों के खाते में दिया जाता है।
वीके सिंह, उपकृषि निदेशक, लखनऊ

उपकृषि निदेशक, लखनऊ वीके सिंह किसान योजना के बारे में बताते हैं, “विकास खंड स्तर पर संकर बीजों की उपलब्धता को सुनिश्चित किए जाने का निर्देश शासन ने दिया है। इस दौरान संकर बीज कंपनियों के स्टाल विकास खंड पर लगाकर भी किसानों को लाभ दिया जाएगा। ”

जिन किसानों ने अभी तक पंजीकरण नहीं किया है वो पांच जून तक अपना ऑनलाइन पंजीकरण विभाग की वेबसाइट www.upagriculture.com पर कर सकते हैं। प्रदेश में संचालित योजनाओं में खरीफ वर्ष 2017 के लिए प्रमाणित बीजों का वितरण सभी जिलों के विकास खण्ड स्थित बीज गोदामों से बीज खरीद सकते हैं।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top