गोंडा: डायल 100 की तत्परता से बची मुसाफिर की जान

गोंडा: डायल 100 की तत्परता से बची मुसाफिर की जानघायल यात्री को देखकर ग्रामीणों ने दी थी सूचना। डायल 100 के पुलिसकर्मियों ने पहुंचाया अस्पताल। प्रतीकात्मक फोटो।

हरी शुक्ला

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

गोंडा। यूपी डायल 100 सोमवार को एक मुसाफिर के लिए संजीवनी साबित हुई। सफर के दौरान वह ट्रेन से गिरकर गंभीर रूप से घायल हो गया। सूचना पर तत्काल मौके पर पहुंची स्थानीय थाने की डायल 100 ने उसे अस्पताल पहुंचाया। न सिर्फ मुसाफिर की जान बची, बल्कि मुसाफिर को सही समय पर इलाज मिल सका।

रविवार दोपहर गोरखपुर से लखनऊ जा रही बाघ एक्सप्रेस ट्रेन से यात्रा कर रहे बिहार के सीवान जनपद के थाना गुठनी के गुठनी बाजार निवासी 25 वर्षीय सुनील कुमार मोतीगंज स्टेशन के पूर्व स्थित विद्यानगर गुमटी के पास ट्रेन से गिर गया। वहां मौजूद ग्रामीणों द्वारा इसकी सूचना मोतीगंज थाने के डायल 100 को दी गयी। सूचना मिलते ही एसआई देवेन्द्र नाथ पाण्डेय व कांस्टेबल राम प्रताप सिंह तत्परता दिखाते हुए तत्काल मौके पर पहुंचे और गंभीर रूप से घायल यात्री को विद्यानगर स्थित सरकारी अस्पताल पहुंचाया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद चिकित्सक ने उसे जिला चिकित्सालय के लिए रेफर कर दिया।

मोतीगंज के डायल 100 पुलिस की इस तत्परता की इलाकाई जनता द्वारा सराहना की जा रही है। ग्रामीणों का कहना है कि यदि डायल 100 तत्काल दुर्घटना स्थल पर पहुंचकर गंभीर रूप से घायल यात्री को अस्पताल न पहुंचाई होती, तो उसका जीवित रहना मुश्किल था।

डायल 100 में तैनात एसआई देवेन्द्र नाथ पाण्डेय कहते हैं कि सूचना मिलने के 10 से 15 मिनट के भीतर पहुंचने का प्रयास किया जाता है। रेलवे क्रासिंग बंद होने की स्थिति में समस्या आती है। इसके बावजूद शीघ्र अतिशीघ्र मौके पर पहुंचा जाता है।

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).

First Published: 2017-01-17 16:21:27.0

Share it
Share it
Share it
Top