तालाबों पर हो रहे अवैध कब्जे, ग्रामीणों ने की जिला प्रशासन से शिकायत

तालाबों पर हो रहे अवैध कब्जे, ग्रामीणों ने की जिला प्रशासन से शिकायततालाब पर हो गया कब्जा

राम सिंह, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

तिलहर (शाहजहांपुर)। प्रशासन जहां एक ओर भारी भरकम बजट खर्च करके पशुओं और सिंचाई के लिए तालाबों के निर्माण में लगा हुआ है वहीं दूसरी ओर जिले में तालाब का पटान दबंगों द्वारा धीरे-धीरे मिट्टी डालकर किया जा रहा है।

शाहजहांपुर जिला मुख्यालय से 50 किमी. दूर तिलहर तहसील के कुंआडाडा गाँव में रहने वाले गयादीन वर्मा (45 वर्ष) बताते हैं, "इस तालाब से ही पूरे गाँव के लोग सिंचाई करते थे इसका पानी पशुओं के पीने के लिए भी प्रयोग किया जाता था। यह काफी बड़ा तालाब था, जो अब लोगों ने पाटना शुरू कर दिया है और कुछ तो पाट भी लिया है।"

तिलहर से दोदराजपुर होते हुए कुआंडाडा जाने वाले मार्ग पर स्थित करीब दो एकड़ के तालाब को कुछ क्षेत्रीय लोगों ने पाटना शुरू कर दिया था जब इसकी शिकायत जिला प्रशासन से की गई तो डीएम नरेन्द्र सिंह ने नगरपालिका व तहसील के कर्मचारियों व अधिकारियों को मौका मुआयना करने के निर्देश दिए थे। शिकायत सही पाई जाने पर अधिकारियों ने तालाब के पटान को प्रतिबंधित कर दिया था। अब क्षेत्रीय लोगों का आरोप है कि तालाब को फिर से पाटे जाने की कवायद जारी है लोगों की मांग है कि तालाब को कब्जामुक्त कराकर इसका जीर्णोद्धार करवाया जाये।

कुंआडाडा गाँव दिलीप कुमार (42 वर्ष) ने बताया, "तालाब को बहुत तेजी से दबंगों द्वारा पाटा जा रहा है इसमें कुछ बड़े लोग भी शामिल हैं जब इनसे दबंगों के नाम पूछे तो इन्होंने साफ मना कर दिया।"

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिएयहांक्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top