उन्नाव: दो लाख 35 हज़ार बच्चों को लगेगा जापनीज इंसेफ्लाइटिस का टीका 

Shrivats AwasthiShrivats Awasthi   14 May 2017 10:22 AM GMT

उन्नाव: दो लाख 35 हज़ार बच्चों को लगेगा जापनीज इंसेफ्लाइटिस का टीका जापनीज इंसेफ्लाइटिस के तहत जिले में 20 मई से विशेष टीकाकरण अभियान की शुरुआत ।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

उन्नाव। जापनीज इंसेफ्लाइटिस के तहत जिले में 20 मई से विशेष टीकाकरण अभियान की शुरुआत की जा रही है। दो माह पूर्व शुरू हुए अभियान में टीकाकरण से वंचित बच्चों को इस बार प्रतिरक्षित किया जाएगा। टीकाकरण अभियान को लेकर स्वास्थ्य विभाग ने रणनीति बनानी शुरू कर दी है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के अनुसार छह जून तक दो लाख 35 हजार बच्चों को जेई का टीका लगाया जाना है।

जापानीज इंसेफ्लाइटिस को दिमागी बुखार के नाम से भी जाना जाता है। इस बीमारी की गिरफ्त में ज्यादातर बच्चे ही आते हैं। अगस्त माह की शुरुआत से ही यह बीमारी जोर पकड़ती है और तीन माह तक कहर बरपाती है। मौजूदा समय में लोगों में इस बीमारी के प्रति जानकारी की बेहद कमी है। जिसके चलते वह इसे अनदेखा करते हैं और बीमारी गंभीर रूप ले लेती है। पिछले कुछ वर्षों में इस बीमारी ने भारत में जमकर कहर बरपाया है।

ये भी पढ़ें- बाराबंकी के किडनी कांड में बड़ी कार्रवाई, केजीएमयू के दो डॉक्टरों के खिलाफ मुक़दमा दर्ज

जिले में 20 मई से अभियान दोबारा शुरू किया जा रहा है। जिसमें जिले के सुमेरपुर, अचलगंज, फतेहपुरचौरासी, बीघापुर और नवाबगंज ब्लाक के 2 लाख 35 हजार बच्चों को जेई का टीका लगाया जाएगा। टीकाकरण की जिम्मेदारी एएनएम, आंगनबाडी कार्यकत्रियों को सौंपी गई है।”
डॉ. आरके गौतम, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी

इसलिए शासन ने अब इसे गंभीरता से लेना शुरू कर दिया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी इसे अपनी प्राथमिकता में शामिल किया है। दो माह पूर्व जिले में दस लाख से अधिक बच्चों को इस बीमारी से बचाने के लिए उन्हें टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया था। अभियान के दौरान जिले के सभी ब्लाकों में सात लाख से अधिक बच्चों को टीके लगाए गए थे। जबकि शेष बच्चों को प्रतिरक्षित करने के लिए दोबारा अभियान शुरू करने की रणनीति बनाई गई है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top