कन्नौज के मतदाता रहे आगे, पिछली बार से बढ़ा मतदान प्रतिशत

कन्नौज के मतदाता रहे आगे, पिछली बार से बढ़ा मतदान प्रतिशतकन्नौज जिले के प्राथमिक विद्यालय बेहरिन में मतदान करने पहुंची 102 वर्षीय बुजुर्ग महिला चिरौंजी देवी।

अजय मिश्रा

कन्नौज। इस बार जिले के मतदाताओं ने पिछली बार की अपेक्षा वोट डालने में तेजी दिखाई और फर्स्ट डिवीजन पर रहे। इस बार का वोट प्रतिशत 65.63 फीसदी रहा है। पिछले विधानसभा चुनाव में मतदाता सेकेण्ड डिवीजन आए थे। इस बार करीब आठ फीसदी वोट बढ़ा है।

वर्ष 2012 के विधानसभा चुनाव में 57.71 फीसदी मतदाताओं ने अपने-अपने मताधिकार का प्रयोग किया था। इस बार कन्नौज सदर सुरक्षित, तिर्वा और छिबरामऊ विधानसभा सीटों के लिए कुल 65.63 फीसदी वोट पडे़ हैं। सबसे अधिक कन्नौज क्षेत्र के लिए 69.24 फीसदी, तिर्वा क्षेत्र से 64 फीसदी और छिबरामऊ से 63.66 फीसदी वोट डाले गए। हालांकि अफसरों का कहना है कि यह रिपोर्ट कंट्रोल रूम की है, जो प्रपत्रों को दुरूस्त करने के बाद कुछ परिवर्तित भी हो सकती है।

शांतिपूर्वक हुआ मतदान

रविवार को जिले में शांतिपूर्वक मतदान हुआ। अधिकतर केंद्रों पर मतदाता लाइन में लगकर वोट देते दिखे। मतदान वाले दिन तक लोग भांप नहीं पाए कि कौन प्रत्याशी भारी पड़ रहा है। 11 मार्च को मतगणना है, उसी दिन पता चल सकेगा कि 19 फरवरी को मतदान वाले दिन किसके पक्ष में अधिक वोट हो रहे थे।

कन्नौज के मझपूर्वा बूथ का निरीक्षण करते डीएम जगदीश कुमार और एसपी दिनेश कुमार।

ईवीएम में बंद हुआ 39 प्रत्याशियों का भाग्य

मतदान के बाद तीनों विधानसभा के 39 प्रत्याशियों का भाग्य इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन में बंद हो गया। कन्नौज जिले में मतदान के बाद ईवीएम जीटी रोड किनारे स्थित कृषि मंडी स्थल में जमा हुई हैं। यहीं पर ही 11 मार्च को तीनों विधानसभा की अलग-अलग मतगणना होगी। देर रात तक ईवीएम जमा करने का सिलसिला चलता रहा।

एसपी ने लाइन में लगकर डाला वोट

पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी ने कन्नौज विधानसभा क्षेत्र के लिए सदर ब्लॉक में लाइन में लगकर वोट किया। यहां पुलिस अधीक्षक वर्दी में पहुंचे थे, लेकिन मतदाता बनकर।


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top