कानपुर देहात में बुजुर्ग और दिव्यांग मतदाताओं का गुलाब देकर किया गया स्वागत 

कानपुर देहात में बुजुर्ग और दिव्यांग मतदाताओं का गुलाब देकर किया गया स्वागत ट्राई साइकिल की मदद से दिव्यांग मतदाता को बूथ तक ले जाते मतदानकर्मी।

भारती सचान/ नीतू सिंह, स्वयं प्रोजेक्ट
कानपुर देहात। मतदाता जागरुकता में गिनीज वर्ल्ड रिकार्ड में दर्ज जिले में मतदान के दिन बुजुर्गों और दिव्यांगो के लिए खास तरह के इंतजाम किए गए। किसी को फूल माला तो किसी को गुलाब का फूल देकर प्रोत्साहित किया गया। कानपुर देहात जनपद में चार विधानसभा सीटों पर 55 प्रत्याशी अपना भाग्य आजमा रहें हैं। इन प्रत्याशियों के भविष्य का फैसला 19 लाख 36 हजार मतदाताओं को करना है। 1422 मतदान केंद्र बनाए गये हैं जिसमे रसूलाबाद सीट में 335, अकबरपुर रनिया में 348, सिकन्दरा 369, भोगनीपुर में 370 मतदान केंद्र हैं।

कानपुर देहात जिले के मुख्य विकास अधिकारी कृष्ण कुमार गुप्ता बताते हैं, “जिले में 1162 मतदान केंद्रों में से 344 मतदान केंद्रों पर ट्राई साईकिल और व्हील चेयर उपलब्ध कराई गई। दिव्यांग मतदाताओं को कोई असुविधा न हो इसलिए हर मतदान केंद्र पर दिव्यांग मित्र नियुक्त किया गये थे जो दिव्यांग मतदाता को बूथ तक ले जाए, जिले के 100 आदर्श बूथों की सजावट खास तौर पर की गयी, कहीं बच्चों की झांकियां तो कहीं कई तरह के स्टाल लगाये गए।

मतदान करने आये बुजुर्ग का फूल देकर स्वागत करते मतदानकर्मी।

अकबरपुर इंटर कालेज के आदर्श बूथ पर वोट देने गए जगदीश नारायण गुप्ता का कहना है, “पहली बार नागरिकों को फूल देने की प्रक्रिया जिला प्रशासन स्तर पर सराहनीय रही, वोट देकर हर कोई खुश होकर जा रहा था क्योंकि चारो तरफ हुई सजावट सभी को प्रभावित कर रही थी।” इस आदर्श बूथ पर तीन दिव्यांग संगनी करिश्मा, सुनीता गुप्ता और ममता देवी मौजूद थी। सुनीता गुप्ता बताती हैं, “पहली बार जिले में ऐसा हुआ है जब दिव्यांग मित्र सभी मतदान केंद्रों पर तैनात किये गये हैं।“

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top