stories

हंगामे के बीच सील हुआ कानपुर का बूचड़खाना

राजीव शुक्ला, स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

कानपुर। प्रदेश सरकार के निर्देश पर कानपुर नगर निगम प्रशासन जब शहर के चार बूचड़खानों में से थाना बजरिया स्थित बूचड़खाने को सील करने पहुंची तो वहां के कर्मचारियों ने खूब हंगामा काटा। इसके बावजूद अधिकारियों ने इस बूचड़खाने को सील कर दिया।

चुनाव से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

विधानसभा चुनाव में भाजपा ने मानक के विपरीत अवैध रूप से चल रहे स्लॉटर हाउस को सरकार बनते ही बंद कराने की घोषणा की थी। इसके साथ ही मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी के शपथ लेने के बाद से पूरे प्रदेश में अवैध स्लॉटर हाउस को बंद कराने की कार्रवाई भी शुरू कर दी गयी। इसी क्रम में जब कानपुर नगर में जब यह प्रक्रिया शुरू की गयी तो इसके विरोध में कर्मचारियों समेत कई लोग सड़क पर आ गए। उन्होंने प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की।

वहीं, डॉ. एके सिंह जिला पशु चिकित्सा अधिकारी कहते हैं कि “शहर में अवैध तरीके से चल रहे जितने भी अवैध स्लॉटर हाउस हैं उनपर जल्द ही कार्रवाई की जाएगी। इसी क्रम में यह सील करा दिया गया।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।