#स्वयंफेस्टिवल : ‘किसान पारदर्शी योजना’ का किसानों को पढ़ाया पाठ

Bhasker TripathiBhasker Tripathi   31 Dec 2016 11:28 AM GMT

#स्वयंफेस्टिवल : ‘किसान पारदर्शी योजना’ का किसानों को पढ़ाया पाठकिसान गोष्ठी में ग्रामीणों को जानकारी देते बुंदेलखंड डेवेलप्मेंट फ़ाउंडेशन के सुधीन्द्र त्रिपाठी।

स्वयं डेस्क/ महेंद्र सिंह (कम्युनिटी जर्नलिस्ट) 33 वर्ष

ललितपुर। स्वयं फेस्टिवल की ललितपुर में जबर्दस्त धूम है। किसान चौपाल के अंर्तगत गोष्ठी में कृषि विभाग के विषय वस्तु विशेषज्ञ डा० राम कृष्ण भारती ने किसानों की समस्याओं का समाधान बताया।

इस अवसर पर किसानों को जानकारी देते हुए कहा कि डिजिटलाइजेशन का समय आ गया है, बिना आनलाइन पंजीकरण के किसी भी किसान को लाभ नहीं मिलेगा, जिसके लिए आवश्यक है "किसान पारदर्शी योजना" मे पंजीकरण। इसके लिए नकल खतौनी, पहचान पत्र,आधार कार्ड, की फोटो कापी व मोबाइल नम्बर विभाग के पास जमा कर दें, जिससे सभी किसानों का पंजीकरण हो सके। इसके बाद ही सब्सिडी का लाभ मिलेगा व बीज, दवा, खेती के उपकरण लेने पर लाभ मिल पायेगा। जो वंचित रहेगा उसको लाभ नहीं मिल पाएगा।

विशेषज्ञों ने महिला किसानों को भी नई-नई जानकारियां दीं।

गोष्ठी में जैविक खेती का सिखाया गया गुण

कम पैदावार होने का कारण अत्यधिक रसायनिक खाद का उपयोग हो रहा है। बजाए इसके जैविक खाद का उपयोग फसल के लिए लाभप्रद होता है, जिस पर प्रकाश डालते हुए डा० मोहन सिंह ने अपने अनुभव बताते हुए कृषि गोष्ठी के दौरान कहा कि "कूड़े करकट, गोबर से जैविक खाद बनती है, एक एकड़ मे 25 से 100 किलो देशी खाद का खेत में प्रयोग कर सकते हैं।"

बीज बनाने का गुण सिखाते हुए डा० मोहन सिंह ने कहा कि "जब आप नया बीज खरीदते हो, और बोते हो, फसल आने पर छन्ना का उपयोग कर स्वस्थ बीज आवश्यकतानुसार बचा कर रख लिया करो,जिससे आप को फसल बोने के समय महगा बीज नहीं खरीदना पड़ेगा।"

किसानों की समस्या का निदान करने का दिया आश्वासन

हरलाल प्रजापति ने कहा कि "गाँव मे 50 ट्यूबबैल हैं, किसी के पास बिजली का कनेक्शन नही? गाँव वाले कई बार विभाग के पास भागे कनेक्शन नहीं मिला। जिस वजह से डीजल जलाना पड़ता है, जो काफी महंगा पड़ता है, जिससे फसल में कम ही फायदा होता है। इस अवसर पर किसान गोष्ठी की अध्यक्षता कर रहे मधू सूधन त्रिपाठी (भारतीय किसान संघ के जिलाअध्यक्ष) ने इस समस्या का समाधान करने के लिए आश्वासन दिया और कहा कि जिले में इस समस्या को जोरशोर से उठाया जायेगा व अधिकारियों पर दवाब बनाकर ट्यूबबैल कनेक्शन दिए जाएंगे।

कृषि गोष्ठी में प्रमुख रूप से डा० रामकृष्ण भारती (विषय वस्तु विशेषज्ञ), मधू सूधन त्रिपाठी (भारतीय किसान संघ के जिलाअध्यक्ष), डा० मोहन सिंह, यज्ञ वृत्त द्धिवेदी, लखनऊ से आये गाँव कनेक्शन के भास्कर त्रिपाठी, अरविन्द्र सिंह परमार, सुखवेन्द्र सिंह परिहार, महेन्द्र राजपूत, शंकरलाल, धनीराम राजपूत मौजूद थे। मंच संचालन किया सुधीर कुमार त्रिपाठी ने।

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Share it
Top