stories

मंदिर के आसपास पुलिस की तैनाती न होने से अराजकतत्वों की मौज

नवीन दिवेदी, कम्युनिटी जर्नलिस्ट

उन्नाव। नवरात्रि के अवसर पर रेलवे स्टेशन व मंदिर के आसपास पुलिस की तैनाती न होने से अराजकतत्वों की मौज है। मंदिर के आसपास दर्शनार्थियों की अधिक भीड़ होने का अराजकतत्व जमकर फायदा उठा रहे है। नतीजतन आए दिन महिलाआें के साथ छेडख़ानी से लेकर चेन व पर्स चोरी की घटनाएं घटित हो रही हैं।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

मालूम हो कि नवाबगंज क्षेत्र में माता दुर्गा व कुशुम्भी स्थित माता कुशेहरी की आदिकालीन प्रतिमाएं स्थापित है। मां दुर्गा के इन मंदिरों की भक्तों के प्रति असीम आस्था है। जिसके चलते नवरात्रि में दूरदराज से हजारों की संख्या में यहां श्रद्धालु आते हैं। बड़ी संख्या में मंदिर पहुंचने वाले भक्तों के लिए अराजकतत्व मुसीबत बने हुए हैं।

लखनऊ के मोहल्ला सिंगारनगर निवासी प्रतिभा अग्रवाल पत्नी सुभाष अग्रवाल अपनी बेटी अनुष्का के साथ ट्रेन से कुशेहरी माता के दर्शन करने आई थी। पीड़ित महिला दर्शनार्थी प्रतिभा ने बताया कि वह दर्शन कर वापस जब गाड़ी पकडऩे के लिए कुशुम्भी स्टेशन पहुची तो दो नम्बर प्लेटफार्म पर दो युवक पहले से चहल कदमी कर रहे थे और जैसे ही वह प्लेटफार्म की बेंच पर बैठी वैसे ही वह गले की चेन को तोडक़र पैदल ही आउटर की तरफ भागे।

शोर मचाने पर कुछ युवको ने उन्हें दौड़ाया तो वह आउटर से गांव जाने वाले मार्ग पर गुम हो गए। पीड़ित महिला का यह भी कहना था कि मौके पर उन्हें कोई सिपाही नहीं मिला। जिससे वह अपनी शिकायत दर्ज करा पाती। वही दूसरी घटना नवाबगंज के बाजार रोड पर हुई। जहा दर्शन कर लौट रहे कानपुर के डिप्टीपड़ाव निवासी महेंद्र सिंह ने बताया कि वह अपनी बाइक से नवाबगंज आए थे यहां जूस पीने के लिए एक दुकान पर रुके।

इस बीच पैसा देने के लिए जब उन्होंने पर्स निकाला तो उनका पर्स गायब मिला। महेंद्र ने बताया कि कानपुर में वह एक फर्म में अकाउंटेंट का कार्य करते है। पर्स में तीन हजार की नगदी, एटीएमकार्ड व क्रेडिटकार्ड था।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।