अव्यवस्थाओं के बीच कैसे होगी नकल विहीन परीक्षा

अव्यवस्थाओं के बीच कैसे होगी नकल विहीन परीक्षाआज से यूपी बोर्ड हाई स्कूल और इण्टरमीडिएट परीक्षाएं नकल विहीन कराने की तैयारी पूरी।

रोहित श्रीवास्वत, स्वयं कम्यूनिटी जर्नलिस्ट

बहराइच। आज से यूपी बोर्ड हाई स्कूल और इण्टरमीडिएट परीक्षाएं नकल विहीन कराने की प्रशासनिक तैयारियां भले ही पूरी हो चुकी हों, लेकिन अभी भी व्यवस्थाएं आधी-अधूरी दिखाई पड़ रही हैं।

शिक्षा से जुड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

जिले की विभिन्न विद्यालयों में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर इस बार करीब महीने भर देरी से यूपी बोर्ड की परीक्षाएं आरम्भ हो रही हैं। हर बार बोर्ड की तरफ से परीक्षाएं होते ही नकल विहीन परीक्षाएं कराने का दावा करने वाली बोर्ड परीक्षा में व्यापक रूप से सुधार के दावे किए जाते हैं, लेकिन जमीनी हकीकत की बात की जाए तो यह दावे महज खोखले ही दिखते हैं। जिले के केबी इण्टर कालेज प्रयागपुर के इण्टर के विज्ञान वर्ग के छात्रों का परीक्षा केन्द्र मामराज बालिका राजकीय इण्टर विद्यालय नूरपुर बनाया गया है, जहां संसाधन के अभाव में छात्र जमीन पर बैठकर परीक्षा देने के लिए मजबूर होंगे। यह तो महज बानगी भर है।

कई ऐसे केंद्रों पर नकल विहीन परीक्षा कराने का झूठा दम्भ भर रही बोर्ड प्रशासन को शायद ज्ञात भी नही है कि क्षमता से अधिक छात्र एक केन्द्र में ठूस दिए गए हैं तो कही कक्ष निरीक्षकों को ही टोटा है। गुरुवार को प्रथम पाली हाई स्कूल की हिन्दी प्रथम व द्वितीय पाली में इण्टरमीडिएट की हिन्दी के प्रथम प्रश्न पत्र की परीक्षा सम्पन्न होनी है, किन्तु व्यवस्थाएं पूर्णतया अव्यवस्थित हैँ।

इधर परीक्षा में लगे प्रशासनिक कर्मचारियों की मानें तो उनकी तैयारी पूर्ण रूप से हो चुकी है। बावजूद इसके कुछ केन्द्रों को छोड़ दिया जाए तो अभी बहुत से केन्द्र ऐसे हैं, जिसमें विद्यालय के केन्द्र व्यस्थापक तक की व्यवस्था नही हो पाई है। ऐसे में नकल विहीन परीक्षा का झूठा दम्भ भरने वाली बोर्ड प्रशासन से नकल विहीन परीक्षा करवा पाना कैसे सम्भव होगा।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top