#स्वयंफेस्टिवल: जब बच्चों ने पहली बार पहने नए जूते तो सभी की आंखें हुईं नम

#स्वयंफेस्टिवल: जब बच्चों ने पहली बार पहने नए जूते तो सभी की आंखें हुईं नमसाहवेस संस्था की ओर से स्वयं फेस्टिवल के तहत पचास गरीब परिवार के बच्चों को बांटे गए जूते।

राजीव शुक्ला ( कम्युनिटी जर्नलिस्ट)

कानपुर। स्वयं फेस्टिवल के तहत करीब 50 गरीब परिवार के बच्चों को ठंडक में राहत देते हुए जूते बांटे गए। इस बीच उनमें से कइयों के लिए नए जूते पहनने का यह ज़िदगी में पहला एहसास था।

दरअसल, दरअसल, गाँव कनेक्शन की ओर से यूपी के 25 जिलों में आयोजित किए जा रहे स्वयं फेस्टिवल के तहत जनपद में दो से आठ दिसंबर तक विभिन्न ब्लॉक में कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। इसके तहत शुक्रवार को कानपुर में स्वयं फेस्टिवल के पहले दिन साईंपुरवा क्षेत्र में साहवेस संस्था की ओर से गरीब परिवार के बच्चों को जूते बांटने का कार्यक्रम आयोजित किया गया। मगर एक पल के लिए वहां मौजूद सभी लोगों की आंखें नम हो गईं। दरअसल, इस बीच जीवन में पहली बार नए जूते पहनने वालों बच्चों के चेहरे पर छाई खुशी को देखकर सभी भावुक हो गए।

इस कार्यक्रम के तहत ऐसे परिवार के लोगों के बीच जूता वितरण किया गया जो दो जून की रोटी के लिए भी जद्दोजहद कर रहे हैं। इस बीच साईंपुरवा में ही रहने पांच साल की एक लड़की सुषमा ने नए जूते पहनने के बाद काफी देर तक अपने पैरों को निहारती रही। पूछने पर उसने बताया कि उसने पहली बार नए जूते पहने हैं। इसके बाद वहां मौजूद कई बच्चों ने अपनी खुशी का यही कारण बताया।

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).

Share it
Top