प्रियंका की अगुवाई से अमेठी-रायबरेली में कांग्रेस को मिलेगी संजीवनी

प्रियंका की अगुवाई से अमेठी-रायबरेली में कांग्रेस को मिलेगी संजीवनीफोटो: इंटरनेट

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

रायबरेली। पिछले विधानसभा चुनावों में प्रियंका गांधी वाड्रा के व्यापक स्तर पर चुनाव प्रचार में ना शामिल होने से कांग्रेस पार्टी का बेहद खराब प्रदर्शन रहा। विधानसभा चुनाव में अच्छे प्रदर्शन के लिए प्रियंका को रायबरेली व अमेठी जिलों के कांग्रेसियों व पार्टी कार्यकर्ताओं की मांग पर इस बार स्टार प्रचारक बनाया गया है। प्रियंका का चुनावी रण में एक बार फिर उतरना से कांग्रेस के लिए ट्रंप कार्ड साबित हो सकता है।

अमेठी जिले के फुर्सतगंज क्षेत्र में इंदिरा गांधी के समय से पवन शुक्ला ( 45 वर्ष) का परिवार कांग्रेस पार्टी का पुराना समर्थक रहा है। उनके पिता स्व. प्रभुदयाल शुक्ला ने वर्ष 1971 के चुनाव में इंदिरा गांधी को जीत दिलाने के लिए पूरे जिले में कांग्रेस पार्टी का प्रचार किया था।यहां तक कि इंदिरा गांधी व राजीव गांधी का उनके घर में उठना-बैठना भी था। पवन शुक्ला बताते हैं,'' पिछले विधानसभा चुनाव में प्रियंका ने चुनाव प्रचार में ज़्यादा समय नहीं दिया, इसलिए रायबरेली-अमेठी की 11 सीटों में पार्टी को मात्र दो सीटे ही मिली थी।''

इस बार चुनाव में कांग्रेस पार्टी के अच्छे प्रदर्शन की बात कहते हुए पवन आगे बताते हैं कि इस बार अगर प्रियंका अकेले चुनाव प्रचार करेगी, तो 60 प्रतिशत वोट कांग्रेस को मिल सकता है। अगर चुनाव में प्रियंका और डिंपल एक साथ प्रचार करती हैं, तो वोट का प्रतिशत 90 हो जाएगा।

इस बार विधानसभा चुनाव में रायबरेली व अमेठी में 10 सीटों (ऊंचाहार, सदर, हरचंदपुर, बछरावां,डलमऊ, सलोन,तिलोई,गौरीगंज, जगदीशपुर और अमेठी) पर विधानसभा चुनाव हो रहा है।इनमें से रायबरेली की सभी साटें कांग्रेस को मिली है, वहीं अमेठी में दो सीटों (गौरीगंज, अमेठी) पर कांग्रेस और सपा दोनो पार्टियों के उम्मीदवार आमने-सामने हैं।

जिला कांग्रेस पार्टी, रायबरेली के युवा नेता राहुल सिंह ने बताया कि उत्तर प्रदेश में इस बार बसपा से मायावती व भाजपा से नरेंद्र मोदी व अमित शाह जैसे दिग्गजों के सियासी वार का जवाब देने के लिए पार्टी के पास प्रियंका से बड़ा कोई चेहरा नहीं है। दोनो जिलों में लोगों का जुड़ाव राहुल से कहीं ज़्यादा प्रियंका से है। इसलिए स्टार प्रचारक के तौर पर पार्टी ने प्रियंका को चुना है।

प्रियंका गांधी उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी के प्रचार का आगाज़ रायबरेली में 14 से 15 फरवरी के बीच करेंगी। इसके बाद वो 16 फरवरी को अमेठी में प्रचार के लिए रवाना होंगी। रायबरेली में विधानसभा चुनाव के चौथे चरण में 24 फरवरी को वोट डाले जाएंगे, जबकि अमेठी में 27 फरवरी को पांचवें चरण में मतदान होगा।

रायबरेली जिले के मुंशीगंज क्षेत्र में कांग्रेस पार्टी के सबसे अधिक वोटर हैं। मुंशीगंज क्षेत्र के रहने वाले जिला कांग्रेस कमेटी के पूर्व कार्यकर्ता ने नाम ना छापने की शर्त पर बताया,'' यहां की जनता प्रियंका में इंदिरा गांधी की छवि देखती है। रायबरेली व अमेठी में अब लोग राहुल की रैली से कहीं ज़्यादा प्रियंका को देखना पसंद करते हैं। लोगों को समझाने का जो गुर प्रियंका में है वो राहुल या पार्टी के किसी भी दिग्गज नेता में नहीं है।इसलिए अगर प्रियंका प्रचार करेंगी तो दोनो जिलों में छह से अधिक सीटों पर कांग्रेस की जीत तय है।''

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).


Share it
Share it
Share it
Top