मनरेगा के तहत बनवाए जाएंगे पक्के टैंक

मनरेगा के तहत बनवाए जाएंगे पक्के टैंकजल संरक्षण व जल संवर्धन के कार्यों को बढ़ावा देने के लिए मनरेगा के तहत टैंक बनवाए जाएंगे।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

लखनऊ। जल संरक्षण व जल संवर्धन के कार्यों को बढ़ावा देने के लिए मनरेगा के तहत टैंक बनवाए जाएंगे।

मनरेगा के टैंक बनते समय अनुपात का ध्यान रखना होगा। मनरेगा के टैंक बनते समय 60:40 के अनुपात का ध्यान रखना होगा। सरकार टैंक बनवाने पर 40 फीसदी सब्सिडी देगी। टैंक बनाते समय अगर निर्माण सामग्री पर 40 फीसद से अधिक खर्च आता है तो आगे का खर्च टैंक खुदवाने वाले को स्वयं करना होगा।

ऐसी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

पहले जल संरक्षण के लिए प्रदेश सरकार ने जल संरक्षण के तहत सड़क के किनारे गड्डे खुदवाए थे, लेकिन कुछ ही गड्ढे ही जल संरक्षण के काम आ सके। सरकार अब वर्षा जल संग्रहण टैंक बनाने के लिए प्रेरित कर रही है। उत्तर प्रदेश के कई जिलों में गर्मी के मौसम में पानी की समस्या बहुत होती है। टैंक निर्माण किए जाएं तो लोगों की परेशानी काफी हद तक सरल हो सकती है। टैंक के साथ-साथ मनरेगा मजदूरों को रोजगार भी मिल सकेगा।

मनरेगा के तहत जिन टैंकों का निर्माण किया जाएगा उसे सीधा घर की छत से जोड़ा जाएगा। जिससे वर्षा जल को इस टैंक में संग्रहीत किया जा सके। इस पानी का प्रयोग पशुओं के लिए पानी का पिलाने के लिए और कई घरेलू कामों के लिए किया जा सकता है।

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).

Share it
Top