गेहूं खरीद से पहले क्रय केंद्रों में तैयारियां तेज

गेहूं खरीद से पहले क्रय केंद्रों में तैयारियां तेजगेहूं खरीद को लेकर क्रय केंद्रों में तैयारियां तेज ।

देवांशु मणि तिवारी, स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

लखनऊ। सोहावा गाँव के सरकारी गेहूं खरीद केंद्र पर इलेक्ट्रॉनिक कांटे, छन्ना पंखा और बोरियां मंगवा कर रख दी गई हैं। केंद्र पर हर वर्ष हज़ारों की संख्या में किसान गेहूं बेचने के लिए आते हैं, इसलिए व्यवस्थाओं में किसी भी तरह की कमी नहीं रखी गई है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

सोहावा गेहूं खरीद केंद्र के प्रभारी वहीद अहमद बताते हैं, “इस केंद्र पर आस पास के दस गाँवों से किसान गेहूं बेचने आते हैं। पिछले साल 600 किसानों ने गेहूं बेचा था। इस बार पैदावार अच्छी हुई है। हज़ार के करीब किसान आ सकते हैं।’’

केंद्रीय कृषि मंत्रालय ने अप्रैल से शुरू होने वाली गेहूं खरीद में 3.3 करोड़ टन से अधिक गेहूं खरीदने का लक्ष्य रखा है। पिछले वर्ष सरकार ने 2.2 करोड़ टन खरीद की थी। इस वर्ष होने वाली खरीद पिछले वर्ष करीब 30 फीसदी ज़्यादा है। इसलिए सरकार भी इस वर्ष क्रय केंद्रों पर खरीद की अच्छी व्यवस्था बनाने में ज़ोर डाल रही है।

लोनावा गाँव में पूरे सरोजनीनगर ब्लॉक में सबसे अधिक गेहूं की खरीद होती है। यहां पर हर साल एक हजार से अधिक किसान गेहूं बेचने आते हैं। गोदान प्रभारी अश्विनी कुमार बताते हैं, “सरकार ने इस बार हर खरीद केंद्र पर इलेक्ट्रॉनिक कांटा रखना अनिवार्य कर दिया है। केंद्र पर सरकार द्वारा जारी न्यूनतम सर्मथन मूल्य लिखा हुआ बैनर व सूची टांगने के निर्देश दिए गए हैं। इसके साथ-साथ केंद्र पर आने वाले किसानों के लिए पीने के पानी की व्यावस्था करने के लिए कहा है।’’

सरकार ने गेहूं खरीद का लक्ष्य पूरे करने के लिए पूरे साल का समय रखा है लेकिन कुल खरीद लक्ष्य का आधा हिस्सा अप्रैल से जून तक ही खरीद लिया जाएगा। कृषि मंत्रालय ने कृषि मंत्रालय ने मार्च 2017 में जारी अपनी रिपोर्ट में देश में 966.4 लाख टन गेहूं उत्पादन का अनुमान आंका है, पिछले वर्ष देश में 922.9 लाख टन गेहूं का उत्पादन हुआ था। ऐसे में अबकी बार खरीद केंद्रों पर सरकारी खरीद से पहले तैयारियां तेज़ हो गई हैं।

लखनऊ मंडल में गेहूं खरीद में हो सकती है देरी

लखनऊ मंडलीय जिलों में गेहूं खरीद में और अधिक समय लगने की बात कहते जिला उपकृषि निदेशक, लखनऊ वीके सिंह ने बताया, ‘’अभी खेतों में गेहूं की फसल खड़ी है। फसल पकने में अभी दस से 12 दिनों तक का समय लग सकता है। इसलिए गेहूं खरीद के शुरूआती दिनों में क्रय केंद्रों पर कम किसान आ सकते हैं। 10 अप्रैल के बाद गेहूं खरीद तेज़ी पकड़ेगी।’’

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top