पात्रों को नहीं मिल रहा उनके हिस्से का राशन

पात्रों को नहीं मिल रहा उनके हिस्से का राशनलोगों को नहीं मिल रहा खाद्यान्न योजना का लाभ।

आशीष यादव /अश्वनी द्विवेदी, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

लखनऊ। सरोजनी नगर विकास खंड के अंतर्गत आने वाले ग्राम पंचायत निजाम पुर मझिगवां में राशन वितरण में व्यापक स्तर पर धांधली चल रही है। इस गांव में करीब 150 ऐसे गरीब परिवार हैं, जिन्हें खाद्यान्न योजना का लाभ नहीं मिल रहा है, जबकि वे पात्र हैं। ग्रामीणों ने कोटेदार और प्रधान पर मिलीभगत का आरोप लगाया है।

गाँव से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

निजामपुर निवासी नन्ही देवी (35 वर्ष) ने बताया, “मेरे पास न घर है, न ज़मीन। पति मजदूरी करते हैं। भाई के घर में रहती हूं। दो बच्चे हैं। कई बार प्रधान से कहा लेकिन आजतक एक बार भी राशन नहीं मिला है। नए प्रधान ने मेरा नाम लिस्ट में भेजा था लेकिन लेखपाल ने रिपोर्ट लगाई कि मैं अपात्र हूं।”

निजामपुर मझिगवां की उर्मिला देवी (50 वर्ष) ने बताया, “मेहनत मजदूरी से बच्चों को पाल रही हूं लेकिन हमें सरकारी योजना का लाभ नहीं मिलता।” नाम न छापने की शर्त पर एक ग्रामीण ने बताया कि गांव की रामरानी की करीब 15 वर्ष पहले मौत हो गई थी। उनके नाम भी बीपीएल कार्ड चल रहा है। गांव की छेदना (पत्नी देवी दयाल) की मौत 17 साल पहले हो चुकी है। उनके नाम भी बीपीएल कार्ड दर्ज है। यहां के ग्राम प्रधान हनुमान रावत ने बताया, “कोटेदार के माध्यम से 290 लोगों की लिस्ट खाद्यान्न योजना की ब्लॉक में जमा कराई है। पुरानी लिस्ट में कुछ बहुत सारी कमियां हैं। करीब 150 योजना के पात्रों के नाम उसमें दर्ज ही नहीं हैं।”

आगे उन्होंने बताया, “नई लिस्ट भेजी जिससे नई-पुरानी दोनों लिस्ट के नामों की जांच हो। जितने भी लोग पात्र हैं उन सब तक सरकारी योजना का लाभ पहुंचे।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top