#स्वयंफेस्टिवल: ‘शिकायत करने पर 20 मिनट में पहुंचेगी पुलिस, चाहे शहर हो या गाँव’

#स्वयंफेस्टिवल: ‘शिकायत करने पर 20 मिनट में पहुंचेगी पुलिस, चाहे शहर हो या गाँव’कार्यक्रम में यूपी पुलिस द्वारा चलाई जा रही तमाम नई पुरानी योजनाओं के बारे में जानकारी दी गई।

कम्यूनिटी जर्नलिस्टः श्रीवत्स अवस्थी (28 वर्ष)

उन्नाव। आज उन्नाव शहर के पूरन नगर स्थित सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज में स्वयं फेस्टिवल का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में करीब 500 छात्र-छात्राओं ने हिस्सा लिया। कार्यक्रम में यूपी पुलिस द्वारा चलाई जा रही तमाम नई पुरानी योजनाओं के बारे में जानकारी दी गई।

छात्र छात्राओं को पुलिस ने डायल 100 व 1090 की जानकारी दी। छात्र छात्राओं को बताया गया कि आखिर किस तरह से इन सेवाओं के जरिये पुलिस हमारी मदद कर रही है। 1090 से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारी पाकर छात्राएं भी बहुत खुश हुई।

विद्यालय की छात्रा अनुपमा ने बताया कि वह पहले उस सेवा का प्रयोग कर चुकी हैं। उन्हें फौरन प्रति उत्तर मिला और कुछ ही दिन में उनकी समस्या का हल कर दिया गया था।

देश के पहले ग्रामीण अख़बार गाँव कनेक्शन की चौथी वर्षगांठ पर गाँव कनेक्शन फाउंडेशन स्वयं फेस्टिवल 2016 का उत्तर प्रदेश के 25 जिले में आयोजन कर रहा है।

उन्नाव जिले के संत पूरन दास नगर स्थित सरस्वती विद्या मंदिर स्कूल में छात्र छात्राएं पुलिस से मुखातिब हुए। हजारों की संख्या में मौजूद रहे बच्चों ने यहां 1090 और डायल 100 से सम्बंधित कई सवाल भी किये।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सीओ सिटी हृदेश कठेरिया ने छात्रों के सवाल का जवाब दिया और उन्होंने बताया, ''डायल 100 सेवा की मदद से अब पुलिस कुछ ही देर में घटनास्थल पर पहुँच सकेगी। छात्र छात्राओं को संबोधित करते हुए उन्होंने बताया कि डायल 100 पूरे प्रदेश के लिए है। आपात स्थिति में 100 नम्बर मिलाते ही 15 से 20 मिनट में पुलिस मौके पर पहुंचेगी।''

डायल 100 का राजधानी लखनऊ में एक अत्याधुनिक केंद्र स्थापित किया गया है। इसके साथ ही जिलो में जीपीएस प्रणाली से लैश वाहन भी दिए गए हैं। पुलिस विभाग की ओर से डायल 100 सेवा के सम्बन्ध में अधिक जानकारी देते हुए दया शंकर द्विवेदी ने बताया कि 100 नंबर मिलाने के कुछ देर बाद ही पुलिस टीम मौके पर पहुँच जाती है। चाहे फिर शिकायत करने वाला शहर में रहता हो या गाँव में।
हृदेश कठेरिया, सीओ सिटी

इस बीच जब छात्राओं ने सवाल किया तो उन्हें उनके सवालो के जवाब भी दिए गए। साथ ही उनसे कहा गया कि वह यूपी 100 एप को अपने स्मार्टफोन में डाउनलोड करें। जिससे किसी भी आपातकालीन स्थिति में बस एक मिस कॉल करने पर उनकी मदद के लिए यूपी 100 पहुंच जाएगी। उन्नाव पुलिस की और से शिशिर और धनञ्जय ने साइबर क्राइम से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारी छात्राओं को दी. सोशल मीडिया के प्रयोग पर बताया कि कभी अपना पासवर्ड किसी से साझा न करे। प्राइवेसी का प्रयोग करें। फेसबुक पर उन्ही लोगों की रिक्वेस्ट एक्सेप्ट करे जिन्हें जानते हो।

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top