#स्वयं फ़ेस्टिवल : हौसलों और उम्मीदों के नाम, ललितपुर में दिए गए स्वयं पुरस्कार 

BhaskerBhasker   31 Dec 2016 12:28 PM GMT

#स्वयं फ़ेस्टिवल : हौसलों  और उम्मीदों के नाम, ललितपुर में दिए गए स्वयं पुरस्कार कार्यक्रम की शुरुआत जिलाधिकारी रूपेश कुमार ने की।

भास्कर त्रिपाठी (कम्युनिटी जर्नलिस्ट) 28 वर्ष

ललितपुर । नगर पालिका इंटर कॉलेज ललितपुर में गाँव कनेक्शन फाउंडेशन के ग्रामीण उत्सव स्वयं फेस्टिवल के तहत ज़िले में उल्लेखनीय कार्य करने वाली कई प्रतिभाओं को सम्मानित किया गया. ऊर्जा, खेल, कृषि और वनों के संरक्षण के लिए विशेष योगदान देने वाली इन प्रतिभाओं के लिए आयोजित इस विशेष सम्मान समारोह में कई लोग उपस्थित थे ।

छिल्ला पोस्ट खितवास में रहने वाले खिलावन सिंह ने स्वच्छ ऊर्जा के उत्पादन के क्षेत्र में एक नयी खोज की है. इस खोज के लिए गाँव कनेक्शन की ओर से उन्हें सम्मानित किया गया ।

वहीं बृजमोहन तिवारी को भी सम्मानित किया गया जिन्होंने दिव्यांग होने की वजह से एक संघर्षपूर्ण बचपन जीने के बावजूद विकलांग व्हीलचेयर बास्केट बॉल प्रतियोगता में राष्ट्रीय स्तर पर भाग लिया और इलाके का नाम रोशन किया ।

सहरिया जनजाति से आने वाले गोकुल कुशवाहा ने दोनों हाथों से दिव्यांग होने के बाद भी हार नहीं मानी। वो एक ऐसी जनजाति से हैं जो शिक्षा से कोसो दूर है. उससे निकले इस युवक ने अपनी कठिनाइयों को हराते हुए पढ़ाई पूरी की।

ललितपुर के तालबेहट से आने वाली भानकुंवर जंगल के अधिकारों की रक्षा करने वाली एक जबरदस्त नेता होने के साथ-साथ एक कार्यकर्ता भी हैं. जो ग्रामीणों को जंगल सुरक्षित रखने के साथ ही उससे कैसे आय और भरण-पोषण किया जाए ये सिखाती हैं। भानकुंवर संयुक्त वन प्रबंधन समिति की ग्राम विजयपुरा (तालबेहट) में अध्यक्ष हैं।

बानपुर वि०ख० बार तहसील महरौनी जिला ललितपुर की रहने वाली मोसमा बानो एक ऐसे विषय पर ग्रामीण क्षेत्रों में काम कर रही है जिस पर बात भी करने को लेकर आज भी रूढियां हैं. माहवारी स्वच्छता प्रबंधन पर जानकारी देकर वो महिलाओं को समाज की मुख्य धारा मे लाने के लिए प्रयासरत है! स्कूल से ड्राप आउट किशोरियो को मुख्य धारा मे जोडकर उनकी पढाई शुरू करने में भी उन्होंने उल्लेखनीय योगदान दिया.अपने समुदाय को बाल विवाह से होने वाली हानियों पर संवेदित करने का काम भी वो कर रही है ।

ग्राम बम्हौरीसर (तालबेहट) की राखी ने गांव में 100 प्रतिशत शौचालय वनवाने के लिए ग्रामीणों को प्रेरित किया और आज उनके इस प्रयास का असर गाँव भर में देखा जा सकता है ।

इन ग्रामीण प्रतिभाओं को सम्मानित करने के मौके पर बुंदेलखंड डिवेलप्मेंट फ़ाउंडेशन के सुधीर त्रिपाठी, ज़िला वन अधिकारी वीके जैन, क्षेत्र के डीएम रूपेश कुमार, ज़िला स्वास्थ्य अधिकारी प्रताप सिंह, नगर पालिका गर्ल्ज़ इंटर कॉलेज की प्रधानाचार्य सुमनलता आदि भी कार्यक्रम में मौजूद थे ।

सम्मान समारोह के मौके डीएम डॉक्टर रूपेश कुमार ने स्वयं अवार्ड पाने वाले विजेताओं को और गाँव कनेक्शन टीम को बधाई दी. प्रधानाचार्या श्रीमती सुमनलता सोनकर ने कार्यक्रम को सफल बनाने में सहयोग दिया. उनके अलावा श्रीमती नमिता गुप्ता, रूपं सिंह, जगदम्बा, सुधीर कुमार रावत, संजय प्रभा चौबे ने भी अपना विशेष सहयोग दिया. संचालन ओम प्रकाश जी ने किया ।

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top