#स्वयंफेस्टिवल: औरैया में जरा सी जागरूकता से महिला उत्पीड़न रोकने की दी सीख

#स्वयंफेस्टिवल: औरैया में जरा सी जागरूकता से महिला उत्पीड़न रोकने की दी सीखकार्यक्रम के दौरान स्वयं प्रोजेक्ट के बारे में प्रोजेक्टर के जरिए दी गई जानकारी।

औरैया। गाँव कनेक्शन की ओर से यूपी के 25 जिलों में आयोजित किए जा रहे स्वयं फेस्टिवल के तहत जनपद में दो से आठ दिसंबर तक विभिन्न ब्लॉक में कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। शुक्रवार को शुरू हुए ग्रामीण महोत्सव में शुभारंभ के तहत औरैया शहर स्थित तिलक इंटर कॉलेज में रंगारंग कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

फसलों के लिए दवा का किया गया वितरण।

गाँव कनेक्शन के इस प्रयास की सभी ने की सराहना

देश के इस सबसे बड़े ग्रामीण उत्सव में कई तरह के जागरूकता अभियान के साथ ही रंगारंग कार्यक्रमों का भी आयोजन किया जा रहा है। इसके तहत शुक्रवार को तिलक इंटर कॉलेज में बतौर मुख्य अतिथि एसपी अतुल शर्मा शिरकत करने पहुंचे। कार्यक्रम की शुरुआत सरस्वती वंदना से की गई। इसके बाद स्कूल के प्रधानाचार्य अंजन अवस्थी ने गाँव कनेक्शन की इस मुहिम की सराहना की। वहीं, कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्ज्वलन के साथ की गई। दो छात्राओं ने सरस्वती वंदना गाकर सभी का मन मोह लिया। इस बीच मंच पर डॉ. गौरव वर्मा, मानवाधिकार से शिवम् विश्नोई, पायनियर पत्रकार केके चतुर्वेदी, रवि राजपूत प्रबंधक कन्या इंटर कॉलेज याकूबपुर व जूडो प्रशिक्षक अनुपम सेठ उपस्थित रहे। वहीं, नुक्कड़ नाटक के मंचन ने सभी का मन मोह लिया।

नुक्कड़ नाटक की सभी ने की सराहना।

नुक्कड़ नाटक से पढ़ाया महिला सशक्तिकरण का पाठ

इस बीच महिला समाख्या औरैया की तरफ से नुक्कड़ नाटक प्रस्तुत किया गया। इसमें दिखाया गया कि किस तरह जरा सी जागरूकता से महिला और लड़कियां अपने ऊपर हो रहे अत्याचार से निपट सकती हैँ। वह न सिर्फ स्वयं के लिए बल्कि औरों के लिए भी बेहतर ज़िंदगी जी सकती हैं। महिला सशक्तिकरण का संदेश देने की इस कोशिश की सभी ने सराहना की।

कार्यक्रम में सभी के लिए है कुछ खास।

सभी के लिए है कुछ खास

इस बीच आयोजित की जाने वाली किसान गोष्ठियों में कृषि विशेषज्ञ किसानों को कम खर्च में अधिक मुनाफ़ा कमाने के गुर बताने के साथ ही उन्हें केंद्र और राज्य सरकार की समूचित लाभकारी योजनाओं के बारे में विस्तार से बताएंगे। साथ ही, पशुओं का नि:शुल्क टीकाकरण कराया जाएगा। लड़कियों को आत्मरक्षा के लिए मजबूत बनाते हुए जूडो-कराटे का प्रशिक्षण दिया जाएगा। वहीं, छात्र-छात्राओं में खेल भावना को बढ़ाने के लिए कई स्कूलों के बीच खोखो और क्रिकेट प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा। इस दौरान यूपी पुलिस के अधिकारी बच्चों और बड़ों को क़ानूनी जानकारी देने के साथ ही उन्हें संकट की घड़ी में किस तरह पुलिस की त्वरित मदद पाने के तरीके भी सुझाएंगे। फोन पर लड़की और महिलाओं के साथ होने वाली छेड़छाड़ की घटनाओं को अंजाम देने वाले शोहदों को किस तरह सबक सिखाया जाए, इसके लिए 1090 की महिला पुलिस अधिकारियों की ओर से जानकारी मुहैया कराई जाएगी। दो से लेकर आठ दिसंबर तक होने वाले इस महाग्रामीण उत्सव में विभिन्न प्रकार के रंग देखने को मिलेंगे।

छात्राओं को आत्मरक्षा के बताए गए गुर।

छात्राओं को दिए गए मज़बूत बनने के टिप्स

वेवइस बीच अनुपम सेठ व उनकी टीम ने छात्राओं को आत्मरक्षा के लिए जूडो कराटे के कुछ आसान से टिप्स दिए। इस बीच खासकर छात्राओं को बताया गया कि वे किस तरह से खुद को मज़बूत बनाकर शोहदों को मात दे सकती हैं।

रंगोली प्रतियोगिता की प्रतिभागियों ने उकेरे कल्पना के रंग।

रंगोली प्रतियोगिता में दिखाया हुनर

प्रोग्राम में छात्राओं के बीच रंगोली महोत्सव का भी आयोजन किया गया। इसमें सभी प्रतिभागियों ने रंगोली के जरिए अपनी कल्पना के रंग उकेरकर एक से बढ़कर एक रंगोली बनाए। इस प्रतियोगिता में विजयी होने वाले प्रतिभागियों में


This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).

Share it
Top