गोण्डा में #स्वयंफेस्टिवल का आगाज़, शहरवासियों में जबर्दस्त उत्साह

गोण्डा में #स्वयंफेस्टिवल का आगाज़, शहरवासियों में जबर्दस्त उत्साहज्ञानस्थली महाविद्यालय में शुक्रवार की सुबह कुछ अलग थी। छात्राएं 1090 वुमेन पावरलाइन और महिलाओं के खिलाफ हिंसा के बारे में विस्तार से जानकारी के लिए समय से पहले ही कालेज पहुंच गई थीं।

गोण्डा। गोण्डा में स्वयं फेस्टिवल की शुरुआत हो चुकी है। ज्ञानस्थली में छात्राओं को यूपी पुलिस ने 1090 वुमेन पावर लाइन, महिला सम्मान प्रकोष्ठ, यूपी 100 व साइबर क्राइम के बारे में बताया। साथ ही किसी दिक्कत में पड़ने पर कैसे यूपी पुलिस टि्वटर पर खबर करने पर तत्काल मदद उपलब्ध कराएगी। इसके बारे में बताया।

स्वयं फेस्टिवल के पहले दिन गोण्डा के फरेंदा शुक्ला गाँव में विशेषज्ञों ने कहा कि भारत की अर्थव्यवस्था में खेती-किसानी का एक अहम योगदान है. देश फिलवक्त डिज़िटल क्रान्ति के मुहाने पर खड़ा है। ऐसे में ज़रूरी है कि खेती किसानी में भी आधुनिक तौर-तरीके अपनाए जाएं। आम-तौर पर ग्रामीण किसानों तक इन आधुनिक तरीकों की जानकारी नहीं पहुंच पाती। ग्रामीण किसान आधुनिक तरीके सीखना तो चाहते हैं पर जानकारियों तक उनकी पहुंच इस रास्ते में आड़े आ जाती है।

गाँव कनेक्शन फाउंडेशन के स्वयं फेस्टिवल में इसी पहुंच को सुनिश्चित करने के मकसद से किसानों को आधुनिक कृषि उपकरणों और विधियों के बारे में जानकारी दी गई।

गोण्डा के फरेंदा शुक्ला गाँव में किसान मेले में ग्रामीणों ने खेती-किसानी के गुर सीखे।

दो दिसंबर से आठ दिसंबर के बीच किसानों की जागरूकता से लेकर महिलाओं को इंटरनेट सिखाने तक ढेरों कार्यक्रम होंगे। इसे लेकर गोण्डा वासियों में खासा उत्साह है। यही नहीं वह पल और भी रोमांचकारी होगा जब गूगल साथी की महिला सदस्य गाँवों में महिलाओं को इंटरनेट सिखाते दिखेंगी। किसानों को प्रगतिशील खेती के गुर सिखाने के लिए विशेषज्ञ रहेंगे।

गोण्डा के मुख्य चौराहे पर लगी स्वयं फेस्टिवल की होर्डिंग।

Share it
Top