#स्वयंफेस्टिवल: महिला सम्मान के लिए बदलो सोच, अपनाओ शौचालय

#स्वयंफेस्टिवल: महिला सम्मान के लिए बदलो सोच, अपनाओ शौचालयस्वयं फेस्टिवल के तहत लखनऊ के दुघरा गांव में ओडीएफ का प्रचार प्रसार

अश्वनी कुमार द्विवदी (कम्यूनिटी रिपोर्टर)

लखनऊ। ग्रामीण स्वच्छता मिशन के अंतर्गत चलाए जा रहे इस कार्यक्रम के दौरान ग्रामीणों को स्वच्छता और साफ़ सफाई के विषय में जागरुक किया गया। दुघरा गांव के साथ जिले के अन्य गांवों को भी को खुले में शौच मुक्त और ओडीएफ कराने को लेकर लोगों में जागरुकता फैलाई गई। कर रहे है।

लोगों से गांव के हर घर में शौचालय बनवाने की अपील की गई। इसके साथ ही लोगों से इस बात की भी अपील की गई कि जिन घरों में शौचालय पहले से ही बने हुए हैं, वे उनका उपयोग करें। कार्यक्रम में लोगों को खुले में शौच करने के दुष्परिणाम और दुष्प्रभावों की जानकारी दी गई। विशेष रूप से गांव की महिलाओं और लड़कियों को खुले में शौच के प्रति सचेत किया गया। उन्हें यह बताया गया कि किस तरह से खुले में शौच के लिए जाना उनके और उनके स्वास्थ्य के लिए खतरा बन सकता है।

देश के ग्रामीण अख़बार गाँव कनेक्शन की चौथी वर्षगांठ पर गाँव कनेक्शन फाउंडेशन स्वयं फेस्टिवल 2016 का उत्तर प्रदेश के 25 जिले में आयोजन कर रहा है। दो दिसम्बर को फेस्टिवल का आगाज प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत अभियान के तहत किया गया। शाहपुर के दुघरा गांव से इस स्वच्छता अभियान शुरू हुआ जहां खुलें में शौच जाने के खिलाफ ग्रामीणों को जागरुक किया गया।

वात्सल्य संस्था की श्वेता मिश्रा ने भी इस संबंध में ग्रामीण महिलाओं और लड़कियों को घरों में शौचालय बनवाने के लिए प्ररित किया। उन्हें ओडीएफ (ओपेन डिफीकेशन फ्री) से होनेवाली परेशानियों के बारे में भी महिलाओं को जानकारी दी। साथ में बताया कि किस तरह से खुले में शौच जाकर लोग घरों में जानलेवा बीमारियों को आमंत्रित करते हैं।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top