खंभे गड़े इस गांव में तीन साल हो गए, बिजली तो अभीतक नहीं आई लेकिन इससे चोरी के मामले जरूर बढ़े

खंभे गड़े इस गांव में तीन साल हो गए, बिजली तो अभीतक नहीं आई लेकिन इससे चोरी के मामले  जरूर बढ़ेतीन साल पहले गड़े थे बिजली के खंभे।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

कानपुर देहात। इस गाँव में तीन साल पहले बिजली के खंभे तो लगा दिए गए, लेकिन न तो बिजली के तार खिंचे और न ही कोई देखने आया। जिला मुख्यालय से 35 किमी. दूर ब्लॉक शिवराजपुर के ग्राम पंचायत हरनू के ग्राम छब्बा निवादा में तीन साल पहले जब खंभे गड़ने शुरू हुए, तो ग्रामीणों में आस जगी। उन्हें लगा कि उनके यहां भी बिजली आ जाएगी, लेकिन बिजली आज तक न आयी।

गाँव से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

छब्बा निवादा गाँव की राम कली (80 वर्ष) बताती है, “रात में कुछ दिखायी नहीं देता है, कई बार तो हम घर में ही गिर जाते हैं। गाँव में बिजली के न होने से अंधेरे का फायदा उठा चोरियां भी हो जाती हैं। कई बार अंधेरे में जानवर तक चुरा ले जाते हैं। ग्राम छब्बा निवादा के राम सिंह (43 वर्ष) कहते हैं, “गाँव में बिजली ना होने कि वजह से बच्चों की पढ़ायी में दिक्कत आती है और सरकार भी एक लीटर मिट्टी का तेल देती है।” प्रधान पम्मी यादव ने बताया, “छब्बा निवादा और बड़ेरिया पुरवा, इन दोनों जगह लाइट नहीं है। सिर्फ तीन साल से खंभे ही गड़े हैं, जेई हमेशा आश्वासन देते हैं।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top