गोंडा के इस स्वास्थ्य केन्द्र में पांच साल से नहीं आयी एएनएम

गोंडा के इस स्वास्थ्य केन्द्र में पांच साल से नहीं आयी एएनएमइटियाथोक के स्वास्थ्य केंद्र पर आसपास के लोगों ने किया कब्जा।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

गोंडा। शासन ने भूमाफिया के खिलाफ अभियान छेड़ रखा है और नायब व कानूनगो अवैध कब्जे की सूची बना रहे हैं लेकिन इन्हें सार्वजनिक उपयोग के भवन के कब्जे नहीं दिख रहे हैं, कारण एएनएम केंद्र पर कब्जे की फिक्र न स्वास्थ्य विभाग और न ही राजस्व महकमे को है।

ये भी पढ़ें : स्वास्थ्य सुविधाओं की हकीकत : लखनऊ में एक डॉक्टर के भरोसे तीन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र

मुख्यालय से 32 किलोमीटर दूर इटियाथोक सामूदायिक स्वास्थ्य केंद्र के सरकांड एएनएम केंद्र पर टीकाकरण व विटामिन ए की खुराक नहीं दी जा पा रही है, कारण एएनएम सेंटर पर कब्जा है। यहां पर अवैध कब्जे से सरकारी कार्यक्रम पांच साल से बंद चल रहे हैं। शासन ने महिला एवं बाल कल्याण के लिए न्याय पंचायत स्तर पर एएनएम केंद्र बना रखे हैं। जहां पर कुछ स्थानों पर एएनएम भवन बना है, लेकिन यह सरकारी भवन अवैध कब्जे का शिकार हो रहा है।

ये भी पढ़ें : बनने के बाद कभी नहीं खुला सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र

यहां के अतुल सिंह (45 वर्ष) कहते हैं, "इस भवन की उपयोगिता नहीं दिख रही है। इससे महिलाओं में असंतोष व्याप्त है। इस प्रकरण की शिकायत सीएमओ से की गई है।"

सदर तहसील के सरकांड गाँव के मजरा राम नगर में यह एएनएम केंद्र स्थित है, जिसके भीतर एक परिवार ने पूरी तरह कब्जा कर रखा है जिससे वहां सरकारी कार्यक्रम की जगह ही नहीं बची। यहां पर अवैध कब्जे के कारण बच्चों व महिलाओं की सेहत की देखरेख नहीं हो पा रही है। टीकाकरण कार्य यहां नहीं हो पा रहा है। विटामिन की खुराक बच्चों को नहीं दी जा पा रही है।

गोंडा के मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. उमेश यादव का कहते हैं, "अधीक्षक इटियाथोक से रिपोर्ट मांगी गई है, उसके बाद डीएम व एसपी से मदद लेकर अवैध कब्जा खाली कराया जाएगा।"

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top