महिला सामाख्या की पहल, तीन बच्चों की विधवा मां की करवाई दूसरी शादी

महिला सामाख्या की पहल, तीन बच्चों की विधवा मां की करवाई दूसरी शादीधर्म और समाज की बेड़ियों में जकड़ी परंपराओं को तोड़कर की शादी।

इश्त्याक खान, स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

औरैया। धर्म और समाज की बेड़ियों में जकड़ी परंपराओं को तोड़ते हुए अछल्दा के भोला पुर्वा गाँव में एक विधवा ने अपने देवर के संग फेरे लेकर अपना हम सफर बनाया है। पति की मृत्यु के बाद उसके ससुराल के लोग उसे घर से निकाल रहे थे, जिसे उसने नहीं माना और महिला समाख्या संघ से शिकायत की। संघ की महिलाओं ने ससुराल वालों को समझाते हुए देवर के साथ महिला की शादी करा दी। महिला सामाख्या और गाँव कनेक्शन की चैपाल में महिला की सभी ने सराहना की।

महिलाओं से संबन्धित सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

हम बात कर रहे हैं जिला मुख्यालय से 40 किलोमीटर दूर ब्लाक अछल्दा के भोला पूर्वा की। दो साल पहले मिर्गी का दौरा पड़ने से रीता के पति की मौत हो गई थी। रीता के तीन बच्चे हैं, जिनका पालन-पोषण वह मजदूरी करके कर रही है। जब सास सावित्री ने दूसरी शादी करने का दबाव बनाया तो रीता ने महिला सामाख्या संघ अछल्दा राजेश्वरी और ब्रहमा कुमारी को अपनी दास्तां बताई।

संघ की सभी महिलाएं एकत्र होकर सावित्री के घर पहुंचीं और उनसे रीता की दूसरी शादी का दबाव बनाने पर विरोध करते हुए घर में रखने को कहा। रीता इस जिद पर अड़ी थी कि तीन बच्चों के सहारे जिंदगी गुजार लेगी, लेकिन न घर से जाएगी और न ही किसी बाहरी व्यक्ति से शादी करेगी। सामाख्या की महिलाओं के समझाने पर सावित्री देवी के दूसरे बेटे राजवीर ने भाभी रीता से शादी करने के लिए हां कर दी। परिवार और गाँव के लोगों के कहने पर रीता ने देवर राजवीर के संग सात फेरे लेकर समाज की बेड़ियों को तोड़ दिया।

रीता ने कहा कि जिस तरह उसे रहना पड़े वह अब अपने देवर और बच्चों के साथ जीवन खुशी से व्यतीत करेगी। चर्चा चौपाल में जिला संदर्भ व्यक्ति कृष्णा, जिला संदर्भ व्यक्ति माया, मुन्नी देवी, ब्रहमा कुमारी, राजेश्वरी, सावित्री, भीमश्री, ज्योति, सुनीता, शक्करवती सहित दो दर्जन महिलाएं उपस्थित रहीं।

देवर ने दिया भाभी का साथ

रीता इस जिद पर अड़ी थी कि तीन बच्चों के सहारे जिंदगी गुजार लेगी, लेकिन न घर से जाएगी और न ही किसी बाहरी व्यक्ति से शादी करेगी। सामाख्या की महिलाओं के समझाने पर सावित्री देवी के दूसरे बेटे राजवीर ने भाभी रीता से शादी करने के लिए हां कर दी। परिवार और गाँव के लोगों के कहने पर रीता ने देवर राजवीर के संग सात फेरे लेकर समाज की बेड़ियों को तोड़ दिया।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top