योग एक बीमारी भगाने वाली मशीन

Deepanshu MishraDeepanshu Mishra   31 March 2017 5:03 PM GMT

योग एक बीमारी भगाने वाली मशीनइंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में उत्तर प्रदेश का तीन दिवसीय प्रथम योग महोत्सव आयोजित किया।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

लखनऊ। राजधानी के गोमतीनगर स्थित इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में बुधवार को उत्तर प्रदेश का तीन दिवसीय प्रथम योग महोत्सव आयोजित किया। इस महोत्सव में मुख्य अतिथि के रूप में राज्यपाल राम नाईक के साथ योग गुरु बाबा रामदेव, उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा, राज्य स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह, लखनऊ विश्वविद्यालय के कुलपति एसपी सिंह, गुजरात संस्कृत विश्वविद्यालय के कुलपति चन्द्र सिंह झाला और हजारों की तादाद में लोग हिस्सा लेने के लिए आये।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

महोत्सव का उद्घाटन करते हुए मुख्य अतिथि राम नाईक ने बताया, “योग अभूत अनिवार्य चीज है, जिसे हमें नियमित रूप से करना चाहिए। मेरी आज उम्र 83 वर्ष है और मैं आज यहां इस उम्र में खड़ा हूं, यह देन योग की ही है। मेरा और सूर्य नमस्कार का बहुत पुराना रिश्ता है। आप लोग इस तीन दिवसीय महोत्सव में आप लोग बहुत कुछ सीख कर जायेंगे। वहीं, बाबा रामदेव ने कहा, “योग शरीर के लिए अत्यंत उपयोगी है और इसे दिनचर्या के रूप में गठित करना चाहिए। योग के कारण मनुष्य किसी भी बीमारी के पास नहीं जाता है क्योंकि योग एक बीमारी भगाने वाली मशीन है।” उन्होंने सरकार से योग को अनिवार्य शिक्षा के रूप में किये जाने की बात की।

अनिवार्य शिक्षा के रूप में लिया जाए’

महोत्सव में उप मुख्यमंत्री ने बताया, “बाबा रामदेव ने केवल देश में ही नहीं, विदेशों तक योग के जरिये देश का नाम रोशन किया है। योग मनुष्य के लिए अत्यंत उपयोगी है अपनी दिनचर्या के रूप में लिया जाना चाहिए। बाबा रामदेव एक ऐसी मशीन है जिन्हें करोड़ों रूपये देकर भी नहीं खरीदा जा सकता है। उन्होंने आगे बताया, “उन्होंने बाबा रामदेव द्वारा संस्कृत बोर्ड बनाने के लिए अपन वरिष्ठों से बात करेंगे। उन्होंने संस्कृत के अध्यापकों को बहुत कम वेतन मिलता है। इस पर भी मैं विचार करूंगा। मैं आज ही अपने विभाग के कर्मचारियों को निर्देशित करूंगा कि योग को अनिवार्य शिक्षा के रूप में लिया जाये।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top