सूबे में बीज शोधन अभियान 15 तक चलेगा

सूबे में बीज शोधन अभियान 15 तक चलेगा

लखनऊ। सूबे में रबी 2015-16 में सौ फीसदी बीजशोधन का सफल क्रियान्वयन करने के लिए आगामी 15 नवम्बर तक एक अभियान चलाया जा रहा है। 

प्रमुख सचिव कृषि अमित मोहन प्रसाद बताते हैं, ''यह अभियान इस माह की 16 अक्टूबर से पूरे प्रदेश में शुरू हो चुका है।''

प्रदेश में फसलों की प्रति वर्ष कुल क्षति का 26 फीसदी रोगों से होती है। रोगों से होने वाली क्षति कभी-कभी महामारी का रूप भी ले लेती है। अत: बुवाई से पूर्व सभी फसलों में बीजशोधन का कार्य शत-प्रतिशत कराया जाना जरूरी है।

प्रमुख सचिव बताते हैं, ''प्रदेश में रबी की प्रमुख फसलों में शत-प्रतिशत बीजशोधन कराने के लिए 212.298 लाख कुन्तल बीजशोधन का लक्ष्य रखा गया है, जिसमें से 16.597 लाख कुन्तल बीज कृषि विभाग के माध्यम से 48.493 लाख कुन्तल बीज अन्य संस्थाओं तथा शेष 147.208 लाख कुन्तल बीज कृषक स्तर पर शोधित कराने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। कृषि विभाग एक अभियान के रूप में समस्त ग्राम पंचायत में किसानों को प्रेरित कर रहा है।''

रबी की प्रमुख फसलों गेहूं, जौ, चना, मटर, मसूर, राई, सरसों, आलू एवं गन्ना के बीजशोधन के लिए संस्तुतियों के अनुसार कृषि विभाग से प्रमुख कृषि रक्षा रसायनों, थिरम 75 फीसदी, डब्ल्यूएसए कार्बेन्डाजिम 50 फीसदी, डब्ल्यूपीए ट्राइकोडरमा हारजिएनम 2.0 फीसदी, डब्ल्यूपी एवं स्यूडोमोनास फ्लोरीसेन्स 0.5 फीसदी, डब्ल्यूपी की व्यवस्था सुनिश्चित की जा चुकी है।

 

Tags:    India 
Share it
Top