सूखा प्रभावित महाराष्ट्र की मदद करना चाहता है चीन

सूखा प्रभावित महाराष्ट्र की मदद करना चाहता है चीनgaonconnection

बीजिंग (भाषा)। चीन सूखा प्रभावित महाराष्ट्र में बारिश करा सकने वाली प्रौद्योगिकी ‘क्लाउड सीडिंग' उपलब्ध कराने और स्थानीय मौसम विभाग के कर्मचारियों को प्रशिक्षित करने के लिए भारत से बात कर रहा है।

बीजिंग, शंघाई और चीन के पूर्वी अन्हुई प्रांत के वैज्ञानिकों एवं अधिकारियों के एक दल ने महाराष्ट्र की हालिया यात्रा के दौरान सहयोग की पेशकश की। महाराष्ट्र पिछले दो साल से भारी सूखे का सामना कर रहा है। चीन कई वर्षों से क्लाउड सीडिंग रॉकेटों का इस्तेमाल करता रहा है, जिसमें बारिश कराने वाला सिल्वर आयोडाइड मौजूद रहता है। लेकिन बारिश के लिए इसे बादलों की ज़रुरत होती है।

सरकार संचालित अख़बार चाइना डेली ने अधिकारियों के हवाले से कहा कि यदि चर्चा सफल रहती हैं तो चीनी विशेषज्ञ भारतीय मौसम विभाग के अधिकारियों को आधुनिक क्लाउड सीडिंग प्रौद्योगिकी से जुडा प्रशिक्षण उपलब्ध कराएंगे।

इसमें कहा गया कि प्रशिक्षण का उद्देश्य ज़रुरत पड़ने पर वर्ष 2017 की गर्मियों में महाराष्ट्र के मराठवाड़ा क्षेत्र में बारिश कराने का होगा। मई की शुरुआत में शंघाई के शीर्ष अधिकारी हान झेंग और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के बीच मुंबई में बैठक हुई थी।

अख़बार में कहा गया कि हान ने फडणवीस से पूछा था कि क्या चीन महाराष्ट्र में सूखे से राहत के लिए कुछ कर सकता है? चीन ने वर्ष 1958 में क्लाउड सीडिंग प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल शुरु कर दिया था और आज उसके पास दुनिया की सबसे आधुनिक प्रणालियों में से एक प्रणाली है।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.