बिना चढ़ावे के नहीं होता कोई काम, आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों ने लगाये वसूली के आरोप

बिना चढ़ावे के नहीं होता कोई काम, आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों ने लगाये वसूली के आरोपबाल विकास पुष्टाहार विभाग भवन के पीछे कार्यकत्री के पति से रुपए लेती सुपरवाइजर। 

कन्नौज। बाल विकास पुष्टाहार विभाग में इन दिनों वसूली का काम जोरों से हो रहा है। कार्यकत्रियों का आरोप है की बिना रुपए दिए कोई काम नहीं किया जाता है।

उमर्दा ब्लाक के बाल विकास पुष्टाहार विभाग बहादुरपुर में एक सुपरवाइजर काम करने के एवज में एक आंगनवाड़ी कार्यकत्री से रुपए लेते हुए देखी गई। उसकी वीडियो क्लिप बनाकर वायरल कर दी गई। ख़ास बात ये है की रुपए विभाग के पीछे लिए गए। बाद में ब्लाक मुख्यालय पर क्षेत्र की आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों की बैठक हुई। यहां गर्भवती महिलाओं को बांटने के लिए दवा का वितरण किया गया। इस दौरान उन्हीं सुपरवाइजर पर दो अन्य कार्यकत्रियों ने वसूली के आरोप लगाये। विधईपूर्वा केंद्र की रमा ने बताया की फोन पर रुपए मांगे जाते हैं। अब तो काम ऑनलाइन होने लगा है, इसके बाद भी ट्रेजरी के नाम पर वसूली होती है।

मकरंदापुर की संगीता ने बताया की बैठक में आने की बात के साथ ही हॉटकुक्ड, पंजीरी और ट्रेजरी के नाम पर रुपए दे जाने की बात कही जाती है। उनके इलाके की सुपरवाइजर ने मकरन्दापुर आदि केंद्र सीडीपीओ को देने की धमकी इसलिए दे दी की परिवार में गमी होने की वजह से वो एक बैठक में नहीं पहुंचीं। इस बात को लेकर खूब नोकझोंक हुई। बाद में मामला सीडीपीओ के पास भी पहुंचा। वहीं आंगनवाड़ी कार्यकत्री एवम सहायिका संघ की जिलाध्यक्ष ममता मिश्र ने बताया की कार्यकत्री अपना कलेजा खुद मजबूत करें।

बाहरी लोग भी करवाते वसूली

कार्यकत्रियों से बाहरी लोग भी वसूली करवाते हैं। ये लोग सुपरवाइजरों का सहयोग करते हैं। साथ ही वसूली भी करते हैं। दवा वितरण वाले दिन बाहरी लोगों और कुछ कार्यकत्रियों के पति को बिठाकर सहयोग लिया गया। सवाल उठता है की बिना लालच में बाहरी लोग आखिर क्यों सहयोग करेंगे। और विभाग किस वजह से उनको छूट दिए है।

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top