प्रधान प्रतिनिधि ने अपने गाँव को बनाया खुले में शौच मुक्त

प्रधान प्रतिनिधि ने अपने गाँव को बनाया खुले में शौच मुक्तचित्रकूट जिले में खुले में शौच के खिलाफ जागरूकता रैली निकालते ग्रामीण

प्रभाकर सिंह- कम्युनिटी जर्नलिस्ट

पहाड़ी (चित्रकूट)। एक तरफ जहां ग्राम प्रधानों के बारे में कहा जाता है कि वो काम नहीं करते हैं, वहीं पर एक ग्राम प्रधान अपनी ग्राम पंचायत में लोगों को खुले में शौच मुक्त करने के लिए लिए जागरुक कर रहे हैं।

जिला मुख्यालय से लगभग आठ किमी. दूर पहाड़ी ब्लॉक की ग्राम पंचायत चकजाफर के प्रधान प्रतिनिधि ने एक नयी पहल शुरु की है। प्रधान के प्रयासों से गाँव में अब तक दो दर्जन से अधिक शौचालय बन गए हैं।

विजय शंकर द्विवेदी के नेतृत्व में गाँव स्वच्छ बनाने के लिए 10 लोगों की एक टीम बनायी गयी है। ये युवा सुबह चार बजे से ही गाँव् के मुख्य स्थानों पर टार्च और सीटी लेकर निकलते हैं और बाहर शौच करने वाले लोगों को हाथ जोड़कर रोकते हैं। साथ ही इससे होने वाली बीमारियों से भी अवगत कराते हैं।

हमें अपनी ग्राम पंचायत को स्वच्छ बनाना है, हमारे गाँव में ज्यादातर लोगों के पास इस बार शौचालय का निर्माण कर दिया गया है। लेकिन अब भी लोग खुले में ही शौच के लिए जाते हैं।
विजय शंकर द्विवेदी, प्रधान प्रतिनिधि

गाँव की पद्मा त्रिपाठी बताती हैं, "हम लोग इसलिए रैली मे भाग लिए की हमारे गाँव के कुछ लोग बच्चों को सड़क किनारे शौच के लिए भेज देते हैं, जिससे दुर्घटना भी हो सकती है। उन्हें रोका जाए अपने घरों में बने शौचालयों का प्रयोग करें जिससे गंदगी भी कम हो।"

इन युवाओं का संकल्प है कि शत-प्रतिशत खुले में शौच मुक्त गाँव होगा साथ ही यह प्रयास तब तक जारी रहेगा जब तक हमारा गाँव स्वच्छ एवं सुन्दर नहीं हो जाता है। युवा टीम के नेतृत्व में भव्य जागरूकता रैली निकाली गयी जिसमें गाँव बड़े, बुजर्ग, बच्चे एवं महिलाओं ने भाग लिया और खूब नारे लगाये। अधिकतर महिलाएं पहली बार ऐसे किसी कार्यक्रम में भाग लिया है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top