वर्षों के इंतजार के बाद आखिर गाँव में पहुंची बिजली

वर्षों के इंतजार के बाद आखिर गाँव में पहुंची बिजलीमझिगवां गाँव में पहुंची बिजली की सुविधा।

कम्यूनिटी जर्नलिस्ट: हर्षित कुशवाहा (16 वर्ष)

मझिगवां (सीतापुर)। लोहिया समग्र ग्राम में शामिल होने के बाद मझिगवां गाँव में बिजली नहीं पहुंची थी। गाँव के लोग बिजली के लिए परेशान रहते थे क्योंकि शाम होते ही ग्रामीण लालटेन और दिये की रोशनी में रहने को मजबूर दिखते थे। बिजली की आस लगाए बैठे गाँव के लोगों की मुश्किलों पर गाँव कनेक्शन ने ग्रामीणों की समस्याओं की खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया था। अधिकारियों ने गाँव की बिजली समस्या का संज्ञान लेते हुए गाँव में बिजली देने की व्यवस्था की और आज मझिगवां गाँव में बिजली पहुंच गई है।

बिजली आई तो ग्रामीणों का नहीं रहा खुशी का ठिकाना

सीतापुर जिला मुख्यालय से करीब 84 किमी. दूर रामपुर मथुरा ब्लॉक के मझिगवां गाँव में कई वर्षों की प्रतीक्षा के बाद बिजली पहुंची, तो लोगों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। मझिगवां ग्राम सभा के अन्तर्गत चार गाँव हैं, पर अब तक उनमें से किसी गाँव में बिजली न थी। पिछले वर्ष ही सरकार द्वारा इस गाँव का चयन समग्र लोहिया गाँव के अन्तर्गत कर लिया गया। इससे इस गाँव के निवासियों में काफी तसल्ली देखने को मिली। मझिगवां ग्राम सभा के अन्तर्गत चार गाँव (मौर्य नगर, शंकरपुरवा, चतुरीपुरवा और मझिगवां) हैं, पर उनमें सैकड़ों वर्षों इंतजार के बाद अब बिजली आ पायी है।

हम लोग कई साल से बिजली के इंतजार में थे, पर जब हमारा गाँव लोहिया में लगा, तब हमारे गाँव में बिजली आयी।
सन्दीप वर्मा, (20 वर्ष), मझिगवां गाँव

अब क्या कहते हैं ग्रामीण

वहीं मौर्यनगर गाँव में रहने वाले अमित मौर्य बताते हैं, ''हमारे गाँव में बिजली आ जाने से गाँव की शोभा बढ़ गयी।" वो आगे बताते हैं, "अब तक पढ़ाई करने के लिए लालटेन का इस्तेमाल करना पड़ता था, इसके लिए कोटेदार से परेशानी झेलनी होती थी, पर अब उनसे फुर्सत हो गयी।" तो उसी गाँव के 14 वर्षीय विद्यार्थी राजकुमार कहते हैं, ''बिजली आ जाने से हमें पढ़ाई में सुविधा मिलेगी। हमने तमाम कोशिशें की पर बिजली नहीं आयी, पर अब सरकार द्वारा हमें यह एक सौगात के रूप में मिली है।

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).

Share it
Top