ग्रामीणों को तीन की जगह दो लीटर मिल रहा मिट्टी का तेल

ग्रामीणों को तीन की जगह दो लीटर मिल रहा मिट्टी का तेलविरोध करने पर मिट्टी का तेल ही नहीं देते कोटेदार। (फोटो साभार: गूगल इमेज)

रबीश कुमार (कम्यूनिटी रिपोर्टर)

फैजाबाद। जनपद में कोटेदारों की मनमानी की वजह से ग्रामीण काफी परेशान नजर आ रहे हैं। कोटेदार तेल में कमी के साथ-साथ मनमानी ढंग से पैसा वसूल रहे हैं। कुछ कोटेदार तो 19 रुपए प्रति लीटर केरोसिन दे रहे हैं और कुछ कोटेदार 20 रुपए प्रति लीटर के हिसाब से।

केंद्र सरकार ने केरोसिन का मूल्य बढ़ाने के बजाय सीधा आवंटन में ही कमी कर दी। जिलापूर्ति अधिकारी दीपक वाष्र्णेय ने बताया कि अक्टूबर 2015 में जिले को 1800 लीटर केरोसिन आंवटीत होता था जो कि कटौती के बाद अब इस वर्ष के अक्टूबर महीने में 1212 लीटर हो गया है। एक ओर जिले में राशन कार्ड धारकों की संख्या बढ़ी है, जिसमें केरासिन का कोटा बढ़ाया जाना था। कोटा बढ़ाने के बजाय घटा दिया गया। अमरजीत (35 वर्ष) बताते हैं, “हम लोगों को मजबूरी में 19 रुपए लीटर मिट्टी का तेल खरीदना पड़ रहा है। वह भी तीन के बजाय दो लीटर ही दे रहे हैं जो एक महीने तक पूरा नहीं चल पाएगा।”

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top