कैम्प लगाकर गरीबों को दिलाएं मुफ्त बिजली कनेक्शन : योगी

कैम्प लगाकर गरीबों को दिलाएं मुफ्त बिजली कनेक्शन : योगीयोजनाओं के बारे में बताते सीएम योगी। 

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

गोरखपुर। शहरी गारीबी रेखा के तहत योजनाओं की शुरुआत करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा,“ जनता को दहलियात मिले इंसे ध्यान में रखते हुए गांवों को18 घंटे और शहरी क्षेत्र को 24 घंटे बिजली देने का निर्णय लिया था। अब इसकी उपलब्धि दिख रही है। गांवों से गुजारिये रात के अंधेरे में टिमटिमाती रोशनी दिखेगी।”

ग्राम ज्योति योजना में तहत गांवों को बिजली से जोड़ा जा रहा है। 100 दिनों के भीतर 8 हजार मजारों को जोड़ा गया है। गांवों में जला ट्रांसफार्मर 48 घंटों में बदलने कानिर्णय लिया। उन्होंने कहा,“ हम बिजली देना चाहते हैं। आप कनेक्शन लीजिए। गरीबों को मुफ्त में बिजली मिल रही है। विधायक भी ऐसे लोगों को कनेक्शन दिलाने का प्रयास करें।शहरी क्षेत्र के लोगों को भी मुफ्त कनेक्शन देंगे।”

ये भी पढ़ें- फुल टाइम नेता नहीं हूं, मुख्यमंत्री के रूप में जिम्मेदारी पूरी होते ही मठ वापस जाऊंगा: योगी आदित्यनाथ

लोग अब पूछ रहे हैं कि बिजली कहाँ आए आ रही है। पिछली सरकार ने महंगी बिजली खरीद का समझौता किया था। हमने उन समझौतों को तोड़ा। सस्ता समझौता करलोगों को बिजली मुहैया करवा रहे हैं। हमारा प्रयास है कि गांव का हर आदमी भौतिक सुखों का आनंद ले। हमने हर परिवार को गैस मुहैया कराया है। अब हर घर मे बल्बजलाकर घर को रोशन करेंगे।

उन्होंने कहा कि सरकार हर परिवार को बिजली मुहैया कराएगी। इसके लिए जनप्रतिनिधियों को भी आगे आना होगा। हम लाइन सुधार, ट्रांसफार्मर की क्षमता वृद्धि, जर्जरपोल को बदलने का कार्य कर रहे हैं। इसके लिए नोडल अधिकारियों की नियुक्ति की जाएगी और हर गरीब परिवार को मुफ्त कनेक्शन दिलाया जाएगा।

उन्होंने पावर कारपोरेशन के अधिकारियों को हिदायत देते हुए कहा,“ अब पहले से आंखे खुली रखनी होगी। स्पार्किंग से किसान की फसल नष्ट होने के बाद जगाने वालेअधिकारियों की खैर नहीं है। इस दौरान सीएम ने ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा के प्रयासों की प्रशंसा भी की।”

ये भी पढ़ें-लेखपाल और तहसील पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का बड़ा बयान

प्रदेश के बिजली मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा,“ बिजली विभाग को इस वर्ष 35 प्रतिशत को बढ़ोत्तरी हुई है। लोग बिल देना चाहते हैं। पहले बिल जाता था, बिजली नहीं जाती थी, इसलिए लोग बिल देने में आनाकानी करते थे।” मुख्यमंत्री ने इस मौके पर मालवीय शोध समागम का उद्घाटन, सघन पौधरोपण कार्यक्रम के तहत पौधरोपण, विश्वविद्यालय विवरणिका का विमोचन किया। विशिष्टअतिथि प्रो वीके सिंह, कुलपति गोविवि गोरखपुर ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया।

मुख्यमंत्री ने मंच से ही बटन दबाकर गोरखपुर, देवरिया और महराजगंज जिले में चल रही विकास योजनाओं का लोकार्पण किया। इनकी लागत 14.5 करोड़ है।

Share it
Top