गाजे-बाजे के साथ गाँवों में जिलाधिकारी बनवा रहे शौचालय 

गाजे-बाजे के साथ  गाँवों में जिलाधिकारी बनवा रहे शौचालय इंदुइयागंज के टपकापुर में शौचालय का गड्ढा खोदते डीएम। साथ में प्रधान, डीपीआरओ और बीडीओ। 

आभा मिश्रा

स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

कन्नौज। जनपद को 31 दिसम्बर तक खुले में शौच से मुक्त करने के लिए डीएम गाँव-गाँव जा रहे हैं। दूसरे चरण में जिले के मुखिया ने गाजे-बाजे के साथ शौचालय निर्माण शुरू किया। इसमें 16 हजार शौचालय बनाने का लक्ष्य रखा गया है।

बुधवार को डीएम जगदीश प्रसाद सबसे पहले कन्नौज सदर ब्लॉक क्षेत्र के बरौली गाँव पहुंचे। यहां उन्होंने शिवकुमार के शौचालय निर्माण की शुरूआत की। बाद में चमेली के शौचालय का निर्माण खुद ईंट जोड़कर किया।

ये भी पढ़ें- उत्तराखंड और हरियाणा बने खुले में शौच मुक्त प्रदेश

फोटो

गाँव के 37 वर्षीय धर्मपाल पुत्र महावीर ने बताया, ‘‘अच्छा लग रहा है मेरे गाँव में डीएम साहब आए हैं। खुद शौचालय का शुभारंभ कर रहे हैं। अभी तक खेत में जाते थे। परिवार में चार बच्चे और हम दो लोग हैं। शौचालय बन जाने पर प्रयोग करें।’’

कमला देवी (40 वर्ष) ने बताया, ‘‘पांच लोग परिवार में हैं। शौचालय का प्रयोग करेंगे। अभी तक खेत में जाते थे।’’ जयदेवी पत्नी शिवशंकर के यहां जब डीएम पहुंचे तो लाभार्थी के पुत्र संजय ने बताया, ‘‘महिलाएं समेत सभी लोग बाहर शौच को जाते थे। डर लगता था कि कोई गोली न मार दे। हमला न कर दे। अब घर के सभी लोग सुरक्षित हैं। शौचालय का प्रयोग करें।’’

ये भी पढ़ें- बाराबंकी जिले में शौचालय निर्माण में हो रही मानकों की अनदेखी

इंदुइयागंज के प्रधान नागेंद्र सिंह ने बताया, ‘‘मेरे गाँव टपकापुर में जिलाधिकारी जी आए, अच्छा लग रहा है। उन्होंने ढोल-नगाढ़े के साथ शौचालय के लिए गड्ढा खोदने और शौचालय बनाने की शुरूआत की। इससे गाँव के अन्य लोग भी प्रेरित होंगे।’’

बरौली गाँव में शौचालय की जुड़ाई करते डीएम। साथ में जिला पंचायत सदस्य।

डीपीसी शिवम द्विवेदी बताते हैं, ‘‘डीएम सर बरौली, जलालाबाद, इंदुइयागंज और अमोलर पहुंचे। शौचालय निर्माण के साथ ही गड्ढ़ा भी खोदा। लोगों को जागरूक भी किया।’’

डीएम जगदीश प्रसाद बताते हैं, ‘‘कन्नौज में करीब 50 हजार शौचालय बनने हैं। स्वच्छता अभियान में राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री लगे हैं। यह राष्ट्रीय अभियान है। लोगों में जागरूकता बढ़ी है। प्रधान भी सहयोग कर रहे हैं। राजमिस्त्री की आवश्यकता बढ़ी है। बाहर से भी बुलाए गए हैं। 31 दिसम्बर तक उत्तर प्रदेष के गंगानदी किनारे के 30 जिले ओडीएफ होने हैं।’’

ये भी पढ़ें- कागजों में उठा कूड़ा, सचिव निलंबित

जब डीएम को गोद में उठाया

जिस दौरान बरौली में शौचालय निर्माण के बाद गाना-बजाना हो रहा था, उसी दौरान बैंड में शामिल राजबर पुत्र पूरननाथ ने डीएम को गोद में उठा लिया। इसके साथ तालियां बज उठीं।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top