जानवरों का इलाज करने के लिए गाड़ी से आएंगे डॉक्टर

जानवरों का इलाज करने के लिए गाड़ी से आएंगे डॉक्टरइस सेवा से दूर होंगी पशुपालकों की मुश्किलें।

कम्यूनिटी जर्नलिस्ट: प्रिया द्विवेदी (24 वर्ष)

रायबरेली। जिले में पशुपालकों को जल्द ही बड़ी राहत मिल सकेगी क्योंकि अब लोगों को अपने पशुओं का इलाज करवाने के लिए कई किलोमीटर की दूरी तय कर पशुचिकित्सालयों में नहीं जाना पड़ेगा। जिले में पशुपालन विभाग को सरकार की तरफ से 15 सचल पशु चिकित्सा सेवा गाड़ियां मिली हैं, जो गाँव-गाँव जाकर पशुओं का इलाज करेंगी। इससे पशुपालकों को परेशान नहीं होना पड़ेगा।

15 सचल पशु चिकित्सा सेवा गाड़ियां मिलीं

जिले को मिली इन गाड़ियों के संचालन के बारे में बताते हुए जिला मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ. एससी जायसवाल ने बताया कि सरकार ने जिले के लिए 15 सचल पशु चिकित्सा सेवा गाड़ियां प्रदान की हैं। इनमें से अभी छह गाड़ियां ही मिली हैं, जो कि राही, सदर, दीनशाहगौरा, लालगंज, हरचंदपुर और बछरावां ब्लॉक में चलाई जाएंगी।

यह रहेंगी सेवाएं

सचल पशु चिकित्सा सेवा गाड़ियों में आधुनिक वेटिनरी सुविधाओं के अलावा पशुओं के टीकाकरण, उनके गर्भाधान और कई जानलेवा पशुओं की बीमारियों की दवाएं उपलब्ध होंगी। डॉ. एससी जायसवाल ने आगे बताया कि ''जबतक सभी 15 गाड़ियां नहीं आ जाती, तब तक किसी भी गाड़ी का संचालन नहीं किया जाएगा। सचल पशु चिकित्सा सेवा गाड़ियों का संचालन सरकार के रोस्टर के हिसाब होगा। इसमें ब्लॉकवार गाड़ियों को अलग-अलग क्षेत्रों में भेजा जाएगा। इन गाड़ियों में खुरपका-मुंहपका जैसी जानलेवा बीमारियों के टीकाकरण की सुविधा भी मौजूद होगी।''

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top