मास्टर जी अब नहीं हो पाएंगे गैरहाजिर, व्हाट्सएप पर भेजनी होगी स्कूल से ‘सेल्फी’ 

मास्टर जी अब नहीं हो पाएंगे गैरहाजिर, व्हाट्सएप पर भेजनी होगी स्कूल से ‘सेल्फी’ रायबरेली के शिक्षकों को अब स्कूल पहुंच कर मौके से ही फोटो बीएसए को भेजनी होगी।

किशन कुमार - कम्यूनिटी जर्नलिस्ट

रायबरेली। सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की मौजूदगी के बारे में जानने के लिए जिलाधिकारी अनुज कुमार झा व जिला बेसिक शिक्षा विभाग ने एक नई रणनीति बनाई है,जिसके तहत अब सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित सरकारी स्कूलों में भी शिक्षकों का डाटा मिलता रहेगा।

बेसिक शिक्षा को सुधारने के लिए विभाग द्वारा उठाए गए इस कदम के बारे में बीएसए गुरूशरण निरंजन बताते हैं,'' इस योजना में शिक्षा विभाग अपना एक (वाद्सएप टेलीफोन नंबर) शुरू करेगा,जिसपर प्रधानाचार्यों को अपनी उपस्थिति का मैसेज हर दिन भेजना पड़ेगा और वो भी निर्धारित समय पर। इस पूरी प्रक्रिया की निरीक्षण खुद डीएम कार्यालय से होगा।''

रायबरेली जिले में शिक्षा व्यवस्था में सुधार लाने के लिए जिलाधिकारी द्वारा बनाई गई इस योजना को पाइलेट के तौर पर आठ ब्लॉकों ( राही, हरचंदपुर, अमावां, महाराजगंज, बछरावां, शिवगढ़, सरेनी और सतांव ) में लागू किया जाएगा। सभी ब्लॉकों में शिक्षकों की ऑनलाइन हाजिरी के लिए उन्हें ट्रेनिंग भी दी जाएगी।

शिक्षकों की मौजूदगी तभी स्वीकृत की जाएगी जब वो खुद अपनी तस्वीर विद्यालय के साथ भेजेंगे। विभाग उनके द्वारा भेजे गए मैसेज की मदद से उनकी जगह पहचान लेगा।
गुरुशरण निरंजन, बीएसए, रायबरेली

''विद्यालयों में शिक्षकों की मौजूदगी तभी स्वीकृत की जाएगी जब वो खुद अपनी तस्वीर विद्यालय के साथ भेजेंगे। विभाग उनके द्वारा भेजे गए मैसेज की मदद से उनकी जगह पहचान लेगा। इसके अलावा इस पहल को प्रभावी तरह से जिले में लागू करने के लिए प्रधानाचार्यों, एनपीआरसी और सहायक प्रधानाध्यापकों को ट्रेनिंग भी दी जाएगी।'' निरंजन आगे बताते हैं।

इस योजना में जुड़ने के लिए सभी ब्लॉकों के प्रधानाचार्यों, एनपीआरसी और सहायक प्रधानाध्यापकों को जिला शिक्षा विभाग 26 अक्टूबर से छह नवंबर तक ट्रेनिंग करवाएगा।

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).

Share it
Top