न गांव में बनी नाली, न लगे नल

न गांव में बनी नाली, न लगे नलइन गाँवों में नहीं बनी हैं एक भी पक्की नाली और न ही पक्की सड़क

अतुल पाण्डेय- (कम्यूनिटी जर्नलिस्ट)

बहराइच। इस पंचायत के सभी गाँवों में से एक में भी पक्की नाली नहीं है और तो और ग्रामसभा में कोई भी पक्का रास्ता तक नहीं बना है। जनपद मुख्यालय से 45 किमी पूर्व दिशा में पयागपुर विकास खंड के अंतर्गत राजापुर कला ग्रामसभा की हालत किसी नरक से कम नहीं है।

राजापुर झाला गाँव के अनुपम (22 वर्ष) बताते हैं, ''गाँव के घरों का पानी नाली न बनने से घर से बाहर रास्तों पर जमा हो जाता है, जिससे पैदल चलने वाले गिर कर चोट खा जाते हैं और यहां आए दिन मोटर साइकिलों से निकलने वाले लोग किसी न किसी हादसों का शिकार हो चके हैं।''

हालांकि पंचायत की आबादी सिर्फ 1200 है, लेकिन छोटी पंचायत होने के बावजूद भी ग्रामसभा में विकास के नाम एक सरकारी नल तक नहीं लगा है। पंचायत की निवासी देवकी शुक्ला ने बताया, “ग्राम प्रधान सुशीला सिंह ने अब तक इस गाँव में एक भी नाली नहीं बनवाई है, पानी भरे रहने से पशुओं का चारा लाने में दिक्कतें होती और इसी पानी में मच्छर भी पनपते हैं, जिनसे गाँव वालो को हमेशा डेंगू, मलेरिया जैसी बीमारियों का खतरा बना रहता है।”

ग्रामीणों के अनुसार यहां पर हाल ही में स्थानीय नेता के दौरे पर जल्द-बाज़ी में पंचायत से होकर गुज़रने वाली एक माइनर (छोटी नहर) पर सीमेंट का पुल बनवाया गया पर उसके अलावा आज तक एक काम नहीं हुआ है।

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).

Share it
Top