समग्र ग्राम में भेतपुर गाँव, मगर नहीं एक भी शौचालय

समग्र ग्राम में भेतपुर गाँव, मगर नहीं एक भी शौचालयप्रतीकात्मक फोटो साभार: गूगल।

कम्यूनिटी जर्नलिस्ट: ऋषभ मिश्रा

शाहजहांपुर (भेतपुर)। समग्र ग्राम होने के बावजूद भी भेतपुर गाँव में एक भी शौचालय नहीं बना हुआ है। जिला मुख्यालय से लगभग 10 किलोमीटर दूर दक्षिण दिशा में ददरौल ब्लॉक में भेतपुर गाँव है। यह गाँव सहवेगपुर ग्राम पंचायत के अंदर आता है। भेतपुर गाँव में लगभग 400 परिवार हैं।

जो सक्षम हैं, उनके यहां बने हैं शौचालय

स्वच्छ भारत अभियान के अंतर्गत हर गाँव में शौचालयों का निर्माण कराया गया, लेकिन भेतपुर गाँव में एक भी शौचालय नहीं बना है। भेतपुर गाँव के निवासी रंजीत कुमार (36 वर्ष) बताते हैं," आस-पास के पांच गाँव में योजना के तहत शौचलय बना हुआ है, पर हमारे गाँव में शौचालय नहीं है। गाँव में जो लोग रुपए से सक्षम हैं, उन्होंने शौचालय बनवाये हैं।"

शौचालय न होने से बहुत दिक्कत होती है। आस-पास के गाँव में मेरी सहेलियां है, जिनके घर में शौचालय बना हुआ है। रात में और दिक्कत होती है क्योंकि गाँव में लाइट भी नहीं रहती है।
शिवांगी सिंह (18 वर्ष)

हमारे गाँव में कभी-कभी आते हैं प्रधान

ग्राम पंचायत सहवेगपुर के अंदर दो गाँव (भेतपुर, उमरगंज) आते हैं। प्रधान के काम न करने के बारे में बृज किशोर बताते हैं,"प्रधान सहवेगपुर में ही रहते हैं तो सबसे ज्यादा काम भी वही का कराते हैं और यहां कभी-कभी आते है।" बृज किशोर अपनी बात को जारी रखते हुए आगे बताते हैं, "सहवेगपुर गाँव की आबादी भी ज्यादा है जिस वजह से उनको चुनाव के समय ज्यादा वोट भी मिल जाते है। "

ग्रामीण प्रधान पर लगाते हैं आरोप

भेतपुर गाँव में 6-7 हैंडपंप लगे हुए है, जिसमें से कुछ ख़राब पड़े हैं। हैंडपंप के न होने से आने वाली समस्या के बारे में रति देवी बताती हैं,"जो हैंडपंप लगे थे वो ख़राब पड़े हैं, उनमे से एक ही सही था जिसमे से अब गन्दा पानी आता है। प्रधान से इस बारे में शिकायत भी की है।" वहीं, किशोरी देवी (50 वर्ष) के पति की मृत्यु हुए तीन साल बीत गया है पर अभी तक उनको वृद्धा पेंशन नहीं मिली है। किशोरी बताती हैं,"प्रधान ने फॉर्म भरवाया था, उसके बाद से अभी तक कोई भी जानकारी नहीं है।" किशोरी आगे बताती हैं,"गाँव की प्रधान महिला हैं, लेकिन वो बिल्कुल ध्यान नहीं देती हैं। उनका सारा काम उनके पति ही संभालते हैं।" इसके अलावा भेतपुर गाँव में एक सफाईकर्मी भी है, लेकिन पिछले 2 महीने से नहीं आया है। गाँव में अभी तक सिर्फ दो कालोनी ही बनीं हुई हैं।

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).

Share it
Top