स्वयं प्रोजेक्ट

साठ हजार किसानों का ऋण जिले में होगा माफ

स्वयं डेस्क प्रोजेक्ट

जौनपुर। जिले के किसानों के लिए यह खबर बहुत राहत देने वाली है। 31 मार्च 2016 से पहले जिन किसानों ने ऋण लिया है उनका कर्ज माफ हो सकता है। ऐसे में जिले के 60 हजार किसानों को सीधे तौर पर फायदा मिलने की संभावना बढ़ गई है। वहीं बैंक ऐसे किसानों के आंकड़े दिन-रात एक करके जुटाने में लगे हुए हैं। किसानों को इस संबंध में कोई नोटिस बैंक की ओर से नहीं दी गई है। जबकि इसके बाद लोन लेने वाले किसानों को नोटिस भेजी जा रही है। वहीं दूसरी ओर किसान संगठन कर्जमाफी को लेकर आरपार की लड़ाई लड़ने की तैयारी में हैं।

सनद रहे है कि जिले में 31 मार्च 2016 से पहले किसान क्रेडिट कार्ड पर करीब 90 हजार किसानों ने साढ़े छह सौ करोड़ रुपए ऋण लिया गया था। इसमें करीब 60 हजार किसानों ने अभी तक ऋण जमा नहीं किया। जबकि 30 हजार किसानों ने ऋण जमा कर दिया है। ऐसे में उन 60 हजार किसानों के लिए यह बहुत ही राहत वाली बात है कि सरकार उनका कर्ज माफ करने जा रही है।

ऋण माफ करने के लिए किसानों का डाटा जुटाया जा रहा है। इसके लिए बैंककर्मी दिन रात लगे हुए हैं। वहीं 2016 के बाद ऋण लेने वाले किसानों को नोटिस भेजी जा रही है।
एमपी राय, एलडीएम जौनपुर

ऋण माफ करने के लिए बैंक द्वारा उन किसानों का आंकड़ा जुटाया जा रहा है। अभी तक किसी किसान को नोटिस नहीं भेजी गई है। वहीं, दूसरी ओर किसान कर्जमाफी को लेकर असमंजस की स्थिति में हैं कि उनका कर्ज माफ होगा या नहीं। क्योंकि सरकार की ओर से अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि किन किसानों को कर्जमाफी का लाभ मिलेगा। बताते चलें कि 31 मार्च 2016 के बाद से जून 17 की अवधि में तकरीबन एक लाख से अधिक किसानों ने ऋण लिया है। ऐसे किसानों को जो किस्त नहीं जमा कर रहे हैं उन्हें बैंक की ओर से नोटिस भेजने की तैयारी है।

ये भी पढ़ें : जौनपुर गाँव की महिला किसान खेती में करती हैं मटका खाद का प्रयोग

भारतीय किसान यूनियन के जिला अध्यक्ष आरएन यादव का कहना है,“ सरकार ने यह स्पष्ट नहीं किया है कि किन किसानों को कर्जमाफी का लाभ मिलेगा। सिर्फ बैंक को निर्देश दिया गया है कि किसानों का आंकड़ा जुटाएं। बैंक के अधिकारी भी कुछ स्पष्ट तौर पर बता नहीं पा रहे हैं।”

गाँव केराकत निवासी किसान अरविंद (55वर्ष) का कहना है,“ कर्जमाफी हो जाए तो उन्हें काफी राहत मिलेगी। हालांकि अभी तक यह सब बातें सिर्फ किताबी नजर आ रही हैं। हकीकत में कुछ हुआ नहीं हैं। बैंक का चक्कर लगाने पर भी कुछ जानकारी नहीं मिल रही है। ”

एक नजर में आंकड़ें

  • 90 हजार किसानों ने लिया था कर्ज
  • 30 हजार किसानों ने जमा किया है
  • 31 मार्च 2016 के बाद एक लाख किसानों ने लिया कर्ज

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।