#स्वयंफ़ेस्टिवल: दुद्धी मेले में पशुओं का समय से टीकाकरण कराने की सलाह 

#स्वयंफ़ेस्टिवल: दुद्धी मेले में पशुओं का समय से टीकाकरण कराने की सलाह सोनभद्र के दुद्धी ब्लाक के बोम गाँव में लगा स्वयं फ़ेस्टिवल मेला।

दुद्धी (सोनभद्र)। अगर समय से पशु का टीकाकरण नहीं होगा तो वह किसी भी बड़ी बीमारी शिकार हो सकता है। इसलिए पशुओं का समय से टीकाकरण जरूरी कराया। स्वयं फ़ेस्टिवल के तीसरे दिन (4 दिसम्बर) सोनभद्र के दुद्धी ब्लाक के बोम गाँव में पशु टीकाकरण कार्यक्रम में पशु चिकित्साधिकारी डॉ प्रदीप सिंह ने ग्रामीणों व आदिवासियों को पशु टीकाकरण के लिए जागरूक किया।

दुद्धी ब्लाक के बोम गाँव में लगे स्वयं फ़ेस्टिवल मेले में खुले में शौच मुक्त गाँव अभियान, पेटीएम, 100, 1090, पशु टीकाकरण, गर्भवती महिलाओं का हेल्थ चेकअप, ट्री प्लांटेशन, शौचालय पंजकरण, हेल्थ चेकअप, जैविक खेती, किसान गोष्ठी के कार्यक्रम हुए।

देश के पहले ग्रामीण अखबार गाँव कनेक्शन की चौथी वर्षगांठ पर 2-8 दिसंबर तक उत्तर प्रदेश के 25 ज़िलों में स्वयं फ़ेस्टिवल का आयोजन चल रहा है। स्वयं फ़ेस्टिवल के तहत सीतापुर में कई कार्यक्रम कराए जा रहे हैं। आज स्वयं फ़ेस्टिवल का तीसरा दिन (4 दिसम्बर) है।

स्वयं फ़ेस्टिवल में 2 दिसम्बर को केकराही गाँव पंचायत में करीब 3000, जीजीआईसी राबर्ट्सगंज में 1000, जीजीआईसी दुद्वी में 1200, चुर्क गाँव में 800, गोहथानी में 800 की जनता ने अपनी हिस्सेदारी की। तीन दिसम्बर को जमगाई गाँव पंचायत में 4000, माछी गाँव में 800, दुद्वी में 1000 और विकास भवन में 500 ग्रामीण इस कार्यक्रम में हिस्सा लिया। कुल मिलाकर स्वयं फ़ेस्टिवल के दो दिन में तकरीबन साढ़े तेरह हजार लोगों ने भाग लिया।

आज रविवार दुद्धी ब्लाक के बोम गांव में गाँव कनेक्शन स्वयं फेस्टिवल द्वारा स्वास्थ, पशु,पुलिस 100 व् 1090 का शिविर का आयोजन किया गया। जिसके

बोम गाँव के स्वयं फ़ेस्टिवल मेले में मुख्य अतिथि अपर पुलिस अधीक्षक डॉ अवधेश सिंह ने ग्रामीणों को 1090, 100 डायल, पावर एंजल के बारे में जानकारी दी और उसकी प्रयोग के तरीके के बारे में बताया। पावर एंजल बनने के बारे में उन्होंने छात्राओं को प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा मजदूर हो या किसान सभी को पुलिस अपने साथी मानती है। अपर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि उन्होंने एक गरीब महिला को हैंडपंप दिलवाया।

चिकित्साधिकारी डॉ उदय प्रताप पाण्डेय ने बताया कि ग्रामीणों को स्वच्छता का पूरा ख्याल रखना चाहिए, इसे ग्रामीण कई बीमारियों से बचेंगे और गाँव भी खुले में शौच से मुक्त होगा। स्वास्थ्य शिविर में डा. पाण्डेय ने मरीजों की जांच की। जांच में आँख, कान, मलेरिया, टायफाइड, टीबी जैसे कई मरीज पकड़ में आए। डा. पाण्डेय पीड़ित मरीजों को दवाई दी।

पशु चिकित्साधिकारी डॉ प्रदीप सिंह ने पशु टीकाकरण के बारे में विशेष जानकारी दिया और ग्रामीणों को बताया कि समय पर गाय, बैल, भैंस, बकरी का समय से टीकाकरण कराएं। ग्राम प्रधान नकछेदी यादव ने ग्रामीणों को विकास कार्य आवास, पेंशन, साईकिल वितरण, 108 और विभिन्न विकास योजनाओं की जानकारी दी।

खेत में पशु टीकाकरण करते स्वास्थ्य कर्मी।

स्वयं फेस्टिवल के तहत उत्तर प्रदेश के 25 जिलों में मुफ्त पशु टीकाकरण का आयोजन किया जा रहा है। इसके तहत खुरपका, मुंहपका और गलाघोंटू बीमारी के लिए टीकाकरण किया जाएगा। खुरपका और मुंहपका की बीमारी तेजी से फैलती है और हर वर्ष इससे हजारों पशुओं की मौत हो जाती है। बीमारी का असर जून-जुलाई सबसे ज्यादा देखा जाता है, इसलिए इन टीकों का बरसात से पहले लगना जरूरी होता है। उत्तर प्रदेश में पशुओं की बीमारी खुरपका-मुंहपका से बचाने के लिए साल में दो बार मई-जून व सितंबर-अक्टूबर के दौरान टीकाकरण होता है।

इस कार्यक्रम में जितेंद्र श्रीवास्तव, डॉ गौरव सिंह, डॉ दिलीप जायसवाल, अभय सिंह, डॉ विष्णु दयाल, डॉ सुरेश आशा महिलाएं अंजू गुप्ता मौके पर कार्यक्रम को सराहनीय कार्य कर पशु टीकाकरण, स्वास्थ, पुलिस शिविर का सफल आयोजन किया। इस मौके पर विंढमगंज थानाध्यक्ष अरविन्द कुमार पुलिस टीम सहित मौजूद रहे।

First Published: 2016-12-04 19:29:46.0

Share it
Share it
Share it
Top