#स्वयंफ़ेस्टिवल: 1090 पर बेझिझक फोन कर रहीं हैं ग्रामीण महिलाएं 

#स्वयंफ़ेस्टिवल: 1090 पर बेझिझक फोन कर रहीं हैं ग्रामीण महिलाएं सोनभद्र जिले के घोरावल ब्लॉक के बरवा गाँव में स्वयं फ़ेस्टिवल में जुटी भीड़।

स्वयं डेस्क/ कम्युनिटी जर्नलिस्ट : करन सिंह

सोनभद्र। स्वयं फ़ेस्टिवल में सोनभद्र के बरवा गाँव में चार छात्राओं को पॉवर एंजिल (शक्ति परी) चुना गया। इस अवसर पर महिलाओं के हक़ के बारे में बताया गया।

देश के पहले ग्रामीण अखबार गाँव कनेक्शन की चौथी वर्षगांठ पर 2-8 दिसंबर तक उत्तर प्रदेश के 25 ज़िलों में स्वयं फेस्टिवल का आयोजन किया जा रहा है। आपका शहर सोनभद्र भी इन 25 जिलों में शामिल है।

लखनऊ से करीब 700 किलोमीटर दूर सोनभद्र जिले के घोरावल ब्लॉक के बरवा गाँव में 5 दिसंबर को स्वयं फेस्टिवल का आयोजन किया गया। फेस्टिवल में आए लोगों को सोनभद्र जिले के एसपी लल्लन सिंह ने यूपी पुलिस के बारे में बताया और बिना डरे पुलिस से सहायता लेने को कहा। पुलिस अधीक्षक ने महिलाओं को उनके हक़ के बारे में जानकारी दी और महिलाओं-लड़कियों को 1090 हेल्पलाइन के बारे में बताया।

उन्होंने बताया की अगर कोई आपको फ़ोन पर परेशान करे या आप से अभद्र बातें करे या फ़ोन पर धमकी दे तो आप तुरंत 1090 महिला हेल्पलाइन पर फ़ोन कर के अपनी समस्या बता सकते है, आपकी समस्या सुनने वाले भी महिलाएं ही हैं, जिससे आपको अपनी बात बताने में संकोच नहीं होगा। आप की समस्या का तुरंत समाधान होगा, साथ ही साथ आप लोगों की आइडेंटिटी गोपनीय रखी जाएगी।

एसपी ने लोगों को डायल 100 के बारे में भी जानकारी दी और कहा कि अगर आप को कोई भी पुलिस से सहायता लेनी हो तो आप डायल 100 पर फ़ोन करके अपनी समस्या बता सकते है जिसका तुरंत हल किया जाएगा।

जनता को जागरूक करते हुए पुलिस अधीक्षक ने कहा कि अगर किसी का एक्सीडेंट हो जाता है तो उसे तुरंत अस्पताल में एडमिट करा दे। ऐसा करने से किसी के भाई, किसी के बेटे, किसी के पिता की जान बच सकती है। लोगों में भ्रम है कि अगर किसी घायल को भर्ती कराया जाए तो पुलिस उन्हें पकड़ कर बंद कर देगी लेकिन ऐसा नहीं है आप पर ऐसी किसी भी तरह की कोई भी करवाई नहीं होगी।

एसपी लल्लन सिंह ने छात्राओं को शक्ति पारी बनने के लिए प्रेरित किया और 4 छात्राओं को शक्ति परी के लिए नामांकित किया। इस मेले में 5000 से ज्यादा लोगों ने हिस्सा लिया।

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).

Share it
Top