#स्वयंफेस्टिवल: देवियापुर गाँव के बच्चे बोले, जिद करके बनवाएंगे घर में शौचालय

#स्वयंफेस्टिवल: देवियापुर गाँव के बच्चे बोले, जिद करके बनवाएंगे घर में शौचालयदेवियापुर गाँव में कस्तूरबा बालिका आवासीय विद्यालय में बच्चों ने सीखा स्वच्छता का महत्व।

दीनानाथ (कम्युनिटी जर्नलिस्ट) 29 वर्ष

सिद्धार्थनगर। “अब हम खुले में शौच नहीं जाएंगे और पापा-मम्मी से कहेंगे कि घर में शौचालय बनवाएंगे, चाहे इसके लिए हमें जिद क्यों न करनी पड़े।“ यह कहना है सिद्धार्थनगर के बर्डपुर ब्लॉक के देवियापुर गाँव के बच्चों का। यह लड़कियां गाँव के कस्तूरबा बालिका आवासीय विद्यालय में पढ़ती हैं। गाँव कनेक्शन की चौथी वर्षगांठ के अवसर पर 25 जिलों में 2 से 8 दिसंबर तक मनाए जा रहे स्वयं फेस्टिवल के तहत शौच मुक्त अभियान पर एक स्वच्छता कार्यक्रम का आयोजन देवियापुर गाँव में भी किया गया। वहीं, नौगढ़ ब्लाक में भी शौच मुक्त अभियान का भी आयोजन किया गया।

बच्चों ने जाना, क्यों जरूरी है स्वच्छता

विद्यालय परिसर में कार्यक्रम के दौरान स्वच्छ भारत मिशन के ब्लाक मोटिवेटर अभय श्रीवास्तव ने इन लड़कियों को स्वच्छता के प्रति जागरूक किया। उन्होंने बताया कि खुले में शौच से लोगों को कई बीमारियां घेर लेती हैं। इन बीमारियों में उल्टी और दस्त की बीमारियां प्रमुख हैं। यह बीमारी बड़े पैमाने पर फैलती है, जिनकी परिणति कई बार मृत्यु भी होती है। इस दौरान वार्डन शशिकला ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से गाँव-गाँव में चलाए जा रहे शौच मुक्त अभियान के बारे में भी बताया। शशिकला ने बताया कि भारत की आधी से अधिक आबादी खुले में शौच जाने को मजबूर है। ऐसे में प्रधानमंत्री ने घर-घर शौचालय बने, इसके लिए अभियान चलाया है। इतना ही नहीं, इस अभियान के तहत सरकारी योजनाओं से गाँव-गाँव शौचालय भी बनवाए जा रहे हैं। इसके लिए शौचालय निर्माण के लिए सरकार 12000 रुपये की सहायता राशि भी दे रही है। इसके अलावा बच्चों को शौचालय न बनने से कई नुकसानों के बारे में भी बताया गया।

और तब बोल उठी सरिता

कार्यक्रम में शौचालय की महत्ता समझने पर इन बच्चों में आठवीं कक्षा में पढ़ने वाली सरिता जोर से बोल उठी, हम अपने घर में शौचालय जरूर बनवाएंगे, चाहे हमें क्यों न जिद करनी पड़े। सरिता के बोल सुन और बच्चे भी सरिता से सहमत हुए और एक साथ बोल उठे, “हम भी अपने घर में बनवाएंगे शौचालय बनवाएंगे।“ इस अवसर पर एक और छात्रा आरती ने कहा कि हम शौचालय बनवाने के लिए जिद करेंगे क्योंकि इससे न सिर्फ हमारा नुकसान है, बल्कि और लोगों को भी बीमारी घेर सकती है।

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).

Share it
Share it
Share it
Top