सरकार, यहां सड़कों पर अब भी हजार गड्ढे हैं

सरकार, यहां सड़कों पर अब भी हजार गड्ढे हैंजौनपुर में सड़कों का हाल।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

जौनपुर। आपको याद होगा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 15 जून से पहले प्रदेश की सभी सड़कों को को गड्ढा मुक्त करने की बात कही थी, लेकिन यह सिर्फ खोखला वादा ही साबित हुआ। जाैनपुर के हर ब्लॉक में मेन रोड से जुड़ने वाली सड़क हो या फिर मेन रोड हर जगह हजारों गड्ढे हैं। जो लोगों के लिए मुसीबत का सबब बन रहे हैं। न सिर्फ इससे एक्सीडेंट हो रहा है बल्कि लोगों यह रोड बीमार भी बना रही है। आइए जौनपुर की सड़कों की हकीकत आपको बताते हैं।

ये भी पढ़ें- वाह ! 29 साल की उम्र में हजारों एड्स पीड़ित परिवारों का सहारा बन युवक ने कायम की मिसाल

शुरुआत जौनपुर-खुटहन मार्ग से करते हैं। कहने तो यह रास्ता सिर्फ 35 किलोमीटर का ही है, पर जौनपुर शहर से खुटहन जाने में आपको करीब तीन से चार घंटा लग जाता है। समझ
लीजिए इतना वक्त तो ट्रेन लखनउ पहुंचाने के लिए लेती है। इतना ही नहीं, रोड पर आए दिन एक्सीडेंट भी होता रहता है, लेकिन इसका कोई पुरसाने हाल नहीं है। इसी तरह का कुछ हाल है शाहगंज-जौनपुर मार्ग का भी। यह रोड तो करीब दो दशक से खराब है।

इसकी भी दूरी शहर से करीब 35 किलोमीटर है, लेकिन दूरी तय करने में करीब ढाई घंटे लग जाते हैं। रास्ते में हर जगह गडढे हैं। एक आंकड़े के मुताबिक इस रोड पर हर रोज एक एक्सीडेंट जरूर होता है। यह तो रही मेन रोड की बात। मेन रोड से गाँवों को जोड़ने वाले संपर्क मार्ग का भी हाल खराब है। चाहे बात खुटहन, सोंधी ब्लॉक के अंतर्गत आने वाले संपर्क मार्ग की हो या फिर किसी दूसरे ब्लॉक की। इन ब्लॉक के अंतर्गत आने वाले गुरैनी-बरंगी मार्ग, जपटापुर पोटरिया, खेतासराय खुटहन, खुटहन—मल्हनी, मल्हनी कोइरीडीहा, कोइरीडीहा इटौरी का भी हाल खस्ता है।

शासन के निर्देश के अनुसार कई मार्ग पर रोड पर पैचिंग कार्य किया गया है जबकि कई जगह इसका अभी जारी है। जल्द ही जिले की रोड गड्ढा मुक्त हो जाएगी।
डीसी गुप्ता, एक्सईएन, पीडब्ल्यूडी

ये भी पढ़ें- किताबों के गांव में आपका स्वागत है, यहां हर घर में बनी है लाइब्रेरी

इसके अलावा बक्शा ब्लॉक के सुल्तानपुर गांव समेत 40 गाँवों के संपर्क मार्ग पर तो चलना ही दुश्वार है। इन रोड पर तो एक से दो फीट तक गहरे गडढे हैं। ऐसे में कैसे चला जा सकता है। जबकि मछलीशहर ब्लॉक के अंतर्गत आने वाली जंघई स्टेशन से जरौना जाने वाली सड़क पर दो घुटनों तक पानी भरा है। ऐसे में पब्लिक कहां चले रोड पर या फिर पानी के अंदर।

मछलीशहर ब्लॉक अंतर्गत आने वाले जंघई निवासी रामऔतार (56वर्ष) का कहना है,“ रोड पर चलना दुश्वार हो गया है।” खुटहन ब्लॉक के धमौर गाँव निवासी रजा (30वर्ष) का कहना है,“ रोड खराब होने से आए दिन हादसे हो रहे हैं लेकिन इस ओर किसी का ध्यान नहीं जा रहा है। ऐसे में
पब्लिक मारी जा रही है। कम से कम से कम मूलभूत सुविधाएं तो मिलना लोगों का हक है।”

Share it
Share it
Share it
Top