#स्वयंफेस्टिवल: शाहजहांपुर में बताई गई 1090 और डायल 100 की ताक़त, छात्राओं ने यूपी पुलिस को जाना करीब से

#स्वयंफेस्टिवल: शाहजहांपुर में बताई गई 1090 और डायल 100 की ताक़त, छात्राओं ने यूपी पुलिस को जाना करीब सेयुवा ताइक्वांडो प्रशिक्षक एशन्या मनीषी काे पुरस्कार देती जिलाधिकारी राम गणेश और प्रधानाचार्या कनक रानी।

शाहजहांपुर। शोहदों की हरक़तों से आजिज़ आ चुकी लड़कियों को जब 1090 की मदद से राहत पाने की ख़बर मिली तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। छात्राओं की मदद करने के लिए शाहजहांपुर पुलिस की ओर से सभी वरिष्ठ अधिकारियों के मोबाइल नंबर भी बांटे गए।

कार्यक्रम में उपस्थित छात्राओं को 100 नंबर स्वयं फेस्टविल के बारे में दी गई जानकारी।

दरअसल, गाँव कनेक्शन की ओर से यूपी के 25 जिलों में आयोजित किए जा रहे स्वयं फेस्टिवल के तहत जनपद में दो से आठ दिसंबर तक विभिन्न ब्लॉक में कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। इसके तहत पहली बार यूपी पुलिस गाँव-गाँव और शहरों की गलियों में जाकर स्वयं फेस्टिवल के दौरान डायल 100 और 1090 के बारे में सूचना मुहैया करा रहे हैं। इस बीच आर्य महिला डिग्री कॉलेज में आयोजित कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे सीओ सीटी एससी श्रीवास्तव ने छात्राओं से पूछा, “आपमें से कितनों को 1090 के बारे में जानकारी है?” इस सवाल के जवाब में किसी ने कुछ नहीं कहा। इस पर सीओ सिटी ने कहा, “यह अफसोस की बात है कि इतनी बड़ी संख्या में मौजूद छात्राओं को 1090 के बारे में कोई जानकारी नहीं है।”

डॉ. अनुराग अग्रवाल ख्याति प्राप्त शिक्षाविद को स्वयं फेस्टिवल में सम्मानित किया गया।

इसके बाद उन्होंने सभी छात्राओं को बताया कि जब भी उन्हें कोई परेशान करे या कुछ अश्लील मैसेज करे तो सिर्फ 1090 नंबर डायल करें। इसके बाद लड़ंकियों और महिलाओं को छेड़ने वाले शोहदों को सबक सिखाया जाता है। साथ ही, उन्होंने यह भी कहा कि यह नंबर सिर्फ लड़कियों और महिलाओं की सुरक्षा को बरक़रार रखने के लिए जारी किया गया है। वहीं, अन्य किसी प्रकार की आपराधिक घटना होने पर सिर्फ 100 नंबर पर ही सूचना दें। यूपी पुलिस की डायल 100 सर्विस पर फोन करने के बाद पुलिस का आना अब अनिवार्य कर दिया गया है। साथ ही, पीड़ित द्वारा 1090 और डायल 100 पर अपनी शिकायत देने पर उसे रिकॉर्ड किया जाता है। ऐसे में फोन पिक करने वाले को पूरी डिटेल के साथ कंप्लेन के संदर्भ में उठाए गए क़दम की जानकारी देनी होती है। उन्होंने सभी छात्राओं से वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के मोबाइल नंबर भी शेयर किए।

इस बीच एक कार्यक्रम में उपस्थित एक लड़के बॉबी सिंह ने कहा, “मैं जिस कॉलेज में पढ़ता हूं, वहां की लड़कियों को कुछ शोहदे मोबाइल पर परेशान किया करते थे। इसके बाद मैंने 1090 के बारे में उन लोगों को बताया। उन्होंने अपनी शिकायत फोन के जरिए 1090 में दर्ज कराई। इसके बाद उनके मोबाइल नंबरों पर अश्लील कमेंट आने बंद हो गए।”

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).

Share it
Top