जलसंकट: नगर निगम ने पानी के अनावश्यक उपयोग पर शहर में लगाई पाबंदी

मध्य प्रदेश के बुरहानपुर में पानी की समस्या इतना बड़ा रूप ले चुकी है कि, यहां की नगर निगम ने पानी के अनावश्यक उपयोग पर पाबंदी लगा दी है। नगर निगम ने शहर में मकान निर्माण, वाहनों की धूलाई, सर्विस सेंटर्स पर गाड़ियों की धूलाई, धोबी घाट पर कपड़ो की धूलाई, आरओ का पानी बेचने पर भी प्रतिबंध लगा दिया है।

रश्मि पुष्पेंद्र वैद्य, कम्युनिटी जर्नलिस्ट

बुरहानपुर (मध्य प्रदेश)। मध्य प्रदेश के बुरहानपुर में पानी की समस्या इतना बड़ा रूप ले चुकी है कि, यहां की नगर निगम ने पानी के अनावश्यक उपयोग पर पाबंदी लगा दी है। नगर निगम ने शहर में मकान निर्माण, वाहनों की धूलाई, सर्विस सेंटर्स पर गाड़ियों की धूलाई, धोबी घाट पर कपड़ो की धूलाई, आरओ का पानी बेचने पर भी प्रतिबंध लगा दिया है।प्रभारी आयुक्त नगर निगम बताया कि जब तक क्षेत्र में बारिश नहीं हो जाती तब तक ये आदेश जारी रहेगा। उन्होंने कहा नगर निगम के आदेश का उल्लंघन करने पर नगर निगम के विभिन्न धाराओं की तहत कार्रवाई की जाएगी।

ग्रामीण इलाकों का है और भी बूरा हाल

राज्य के 158 शहरों में पानी की समस्या गहरा गई है। कलेक्टर्स की समीक्षा बैठकों से मिले आंकडों के मुताबिक 103 शहरों में एक दिन छोडकर, 36 शहरों मे दो दिन छोडकर और 19 शहरों में तीन दिन छोडकर पानी का वितरण किया जा रहा है। ग्रामीण इलाकों का हाल और भी बूरा है। दो हजार गांवों की नल जल योजना बिल्कुल बंद हो गई है।पिछले साल आई नीति आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक साल 2030 तक पेयजल वितरण की मांग दो गुना और बढ जाएगी। 60 करोड़ लोग पानी की समस्या से देश में जूझ रहे हैं। इसके साथ ही हर साल 2 लाख लोगों की शुद्ध पानी नहीं मिलने से मौत हो जाती है।

शहर के 30 से अधिक जलस्रोत सूख चुके हैं

बुरहानपुर में भूजलस्तर में लगातार गिरावट और उससे उपजे भीषण पेयजल संकट की नगर निगम ने पानी के अनावश्यक उपयोग पर रोक लगाई है। गिरते जलस्तर की वजह से शहर के 30 से अधिक जलस्रोत सूख चुके हैं। बुरहानपुर के जयसिंह नगर निवासी पानी की समस्या से बेहद परेशान हैं। उनका कहना है कि नगर निगम की ओर से भेजी गई एक पानी का टैंकर नगर के 500 से 600 घरों के लिए काफी कम है। गांव वासियों ने नगर निगम से और भी पानी के टैंकर भेजने की गुहार लगाई ताकि उनकी पानी की मांग की पूर्ति की जा सके।

ये भी पढ़ें- जल संकट: एक बाल्‍टी पानी के लिए 2 किमी पैदल जाते हैं लोग

पार्षद राजेश डांगी से पानी की समस्या पर बात करने पर वह बताते हैं कि उन्होंने नगर की नगर निगम से 4 से 5 पानी के टैंकर की मांग की थी लेकिन नगर निगम ने केवल एक ही टैंकर की स्वीकृति दी है। उन्होंने बताया कि उन्होने कमिश्नर को इस बाबत चिट्ठी लिखी है। अगर कुछ दिनों में इस समस्या को लेकर कमिश्नर की तरफ से कोई कदम नहीं उठाया जाता है कि तो वो नगर निगम का घेराव करेंगे।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top