यूपी में गिरफ्तार संदिग्ध आतंकियों के आइएस खुरासन माड्यूल से जुड़े हो सकते हैं तार: पुलिस

यूपी में गिरफ्तार संदिग्ध आतंकियों के आइएस खुरासन माड्यूल से जुड़े हो सकते हैं तार: पुलिसलखनऊ में आतंकियों से मुठभेड़ के दौराने मौके पर एसएसपी मंजुल सैनी।

लखनऊ। उत्तर भारत के हृदय में एक बार फिर आतंकवाद ने दस्तक दी है। मंगलवार को मध्यप्रदेश में हुए धमाकों के कुछ घंटे बाद ही कानपुर से दो संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया और फिर लखनऊ में घंटों चले ऑपरेशन के बाद यूपी एटीएस ने आतंकवादियों को घेर लिया। इन आतंकियों के तार आईएसआईस के खुरासान मॉडल जुड़े बताए जा रहे हैं।

यूपी में गिरफ्तार आतंकियों का मध्य प्रदेश में ट्रेन में हुए विस्फोट के बाद पकड़े गए आतंकियों से सीधा कनेक्शन दिख रहा है। एमपी में पकड़े गए आतंकियों में दो कानपुर के रहने वाले निकले, जबकि एक इटावा का है। एमपी पुलिस की ही सूचना पर यूपी पुलिस ने धरपकड़ मंगलवार को शुरू की थी, लखनऊ के ठाकुरगंज में मुठभेड़ देर रात तक जारी रही।

पुलिस और खूफिया एजेंसियों के लिए ये बड़ी कामयाबी हो सकती हैं, क्योंकि बुधवार को बनारस समेत कई जिलों में विधानसभा चुनाव के आखिरी चरण का मतदान है। बनारस में आतंकी हमला हो चुका है तो अयोध्या भी हमेशा निशाने पर रहा है। ऐसे में एटीएस की इस कार्रवाई को बड़ी उपलब्धि माना जा रहा है।

ये भी पढ़ें- यूपी में हाई अलर्ट: लखनऊ में आतंकियों से मुठभेड़, एटीएस ने कानपुर, इटावा और उन्नाव में पकड़े संदिग्ध आतंकी

भोपाल-उज्जैन पैसेंजर की एक बोगी में मंगलवार को आईईडी से ब्लास्ट हुआ। मध्य प्रदेश पुलिस ने इसके बाद यहीं के पिपरिया स्थान से तीन अभियुक्तों दानिश अख्तर उर्फ जफर पुत्र रईश अख्तर निवासी केडीए कालोनी कानपुर, सैय्यद मीर हुसैन उर्फ हम्जा पुत्र सैय्यद अहशान हसन निवासी इन्द्रिरा नगर, अलीगढ़ और आतिश मुज्जफर उर्फ अल कासिम पुत्र मुज्जफरूल हक नकवी निवासी जाजमऊ, कानपुर को पकड़ लिया।

आतंकी मुठभेड़ के बाद पुलिस की विज्ञप्ति।

डीजीपी कार्यालय के मुताबिक मध्य प्रदेश पुलिस द्वारा प्राप्त सूचना के मुताविक लखनऊ में एटीएस द्वारा काकोरी थाना अन्तर्गत एक मकान मे एक संदिग्ध आतंकी मोहम्मद सैफुल्लाह उर्फ अली निवासी कानपुर को घेरा गया। एमपी पुलिस की सूचना के आधार पर ही कानपुर से दो संदिग्ध आंतकियों मोहम्मद फैसल खां निवासी कानपुर और मोहम्मद इमरान उर्फ भाई जान निवासी जाजमऊ कानपुर को गिरफ्तार किया गया। हालांकि पहले ख़बर थी कि इमरान को उन्नाव से गिरफ्तार किया गया है।

इसी दौरान इटावा के महेश्वरी मोहाल निवासी फकरे आलम उर्फ रिशू को भी पुलिस ने इटावा में ही दबोचा। डीजीपी कार्यालय के मुताबिक कानपुर से गिरफ्तार संदिग्ध आंतकियों के पास से एक लैपटाप व कुछ मोबाइल मिले हैं। लैपटाप में आईएस सम्बधित वीडियो एवं साहित्य प्राप्त हुआ है। संदिग्ध आतंकी कानपुर-लखनऊ आइएस खुरासन माड्यूल के सदस्य बताए जाते हैं।

संबंधित ख़बर- लखनऊ में पांच घंटे से एटीएस की आतंकियों से चल रही मुठभेड़, काटी गई इलाके की बिजली

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top