ताज़ा ख़बर

एबीएसए पर महिला अध्यापकों ने लगाया वसूली करवाने का आरोप

लखनऊ। राजधानी में महिला सहायक अध्यापकों ने एबीएसए (खण्ड शिक्षा अधिकारी) मोहनलालगंज पर वसूली करने का दबाव बनाने और अभद्रता का आरोप लगाया है। इसकी जांच के लिए उन्होंने 1090, सचिव बेसिक शिक्षा, जन सुविधा केंद्र सहित शासन तक को लिखा है।

शनिवार को प्रेस कांफ्रेंस करके अंर्तजनपदीय शिक्षक वेलफेयर एसोसिएशन ने भी महिला अध्यापकों के साथ मिलकर एबीएसए के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

बीएसए लखनऊ का कहना है कि यह मामला पेशबंदी का है और जांच करके जो भी दोषी होगा कार्यवाही करूंगा।

महिला सहायक अध्यापक बिंदू देवी ने कहा कि एबीएसए मोहनलालगंज राम नरायन ने आगामी बाल क्रीड़ा रैली के लिए 10 हजार रुपये वसूली करने के लिए कहा। जब टीचर्स ने विरोध किया तो एबीएसए के खास अध्यापक विनय कुमार सिंह और प्रधानाध्यापक रामशंकर शुक्ला ने अमर्यादित और अशोभनीय शब्दों का प्रयोग किया। उन्होंने कहा, ‘‘महिला अध्यापक को कमरे में बंद करने की भी कोशिश की गई।’’

उन्होंने बताया कि महिला अध्यापक ने 1090 सहित कई अधिकारियों से सुनवाई की तो एबीएसए ने कहा कि मेरी पावर को नहीं जानतीं तुम लोग, चुपचाप वसूली करो। इस पर फीमेल टीचर्स ने बीएसए, डीएम सहित सचिव बेसिक शिक्षा को जांच करने का पत्र लिखा।

इस बारे में बीएसए डा प्रवीन मणि त्रिपाठी ने कहा, ‘‘मामला पेशबंदी का,फिर भी निष्पक्ष पूरे मामले की गहनता से जांच करूंगा।’’