ताज़ा ख़बर

प्रदेश के विकास में रोड़े अटका रही केंद्र सरकार: अखिलेश

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने केंद्र पर राज्य के साथ हकतलफी करने का आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा सरकार ना सिर्फ केंद्रांश में कटौती करके सूबे के विकास की राह में रोड़े अटका रही है, बल्कि माहौल खराब कर विकास से ध्यान हटाने की भी फिराक में है।

अखिलेश ने  आज तक चैनल के कार्यक्रम में कहा कि उन्हें केंद्र की मनमोहन सिंह और नरेन्द्र मोदी सरकार के साथ काम करने का मौका मिला। केंद्र ने राज्य से जो सहयोग मांगा वह दिया गया, मगर अफसोस कि बदले में जितना मिलना चाहिए था, उतना नहीं मिला। उन्होंने कहा कि जिस राज्य ने भाजपा को सबसे ज्यादा सांसद चुनकर दिए, नीति आयोग ने उसी राज्य के हिस्से के नौ हजार करोड़ रुपए काट लिए।

मुख्यमंत्री ने भाजपा पर बदनीयती के कारण कैराना पलायन जैसा मुद्दा उठाने का आरोप लगाते हुए पूछा कि यह पार्टी बताये कि विकास के मामले में उसका क्या योगदान है? उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा के लोगों ने पलायन का सवाल क्यों उठाया, यह मैं जानना चाहता हूं। शामली में एक नौजवान अपनी महिला दोस्त के साथ घर में रहने लगा। इन भाजपा के लोगों ने क्या बताया कि हिन्दू महिला के साथ क्या हो गया। मैं पूछता हूं कि विकास के मामले में इनका क्या योगदान है।’’ 

अखिलेश ने प्रधानमंत्री मोदी की महत्वाकांक्षी ‘उज्ज्वला योजना’ पर निशाना साधते हुए पलटवार किया कि ‘‘बिना समाजवादी पेंशन के उज्ज्वला योजना का सिलिंडर नहीं भर पाएगा।’’ 

राजनीतिक और प्रशासनिक मामलों में यादव परिवार के सदस्यों की दखलंदाजी के बारे में पूछे गये सवाल पर उन्होंने कहा, ‘‘अगर कोई चाचा मेरी मदद करे और मैं उनकी राय मानूं तो इसमें क्या गलत है। मैं चाचा से पूछकर फैसले नहीं करता।’’ 

मौर्य अच्छे आदमी पर दल गलत

हाल में बसपा छोड़ने वाले स्वामी प्रसाद मौर्य के बारे में अखिलेश ने दोहराया कि वह सदन में भी कई बार कह चुके हैं कि मौर्य अच्छे व्यक्ति हैं, लेकिन गलत दल में हैं। अगर अब वह गलत दल में जाते हैं तो मैं कहूंगा कि उनके व्यक्तित्व में कुछ गड़बड़ है।

पुिलस का काम बहुत जोखिम भरा

मुख्यमंत्री ने दो जून को मथुरा के जवाहरबाग में हुई दुस्साहसिक वारदात के बारे में कहा कि जवाहरबाग में जो भी हुआ, वह गलत हुआ। मामले की न्यायिक जांच हो रही है। जवाहरबाग में पुलिस रेकी करने गयी थी। वहां मौजूद महिलाओं और बच्चों की जान बचाना जरूरी था। मथुरा की जनता ने उन लोगों को मार-मारकर भगाया है।कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर अखिलेश यादव कहा कि पुलिस का काम बहुत जोखिम का है। पिछले दिनों हमलों में दो पुलिसकर्मी शहीद हो गये। प्रदेश में कम से कम ऐसी पुलिस तो है जो जोखिम उठा रही है।

यहां की परियोजनाएं देश के लिए उदाहरण

अखिलेश ने कहा कि उनकी सरकार ने सवा चार साल में बहुत काम किया हैं और उनकी बहुत सी परियोजनाएं देश के लिए उदाहरण हैं। देश का सबसे बड़ा एक्सप्रेस-वे उत्तर प्रदेश में बन रहा है। यह दो अक्टूबर तक खुल जाएगा। यह एक्सप्रेस-वे गाँव की अर्थव्यवस्था को बेहतर करेगा। अमेरिका ने सड़क बनायी और सड़कों ने अमेरिका को बनाया। अगर हम रफ्तार दोगुनी कर सकते हैं तो अर्थव्यवस्था को तीन गुना बढ़ा सकते हैं।

बुंदेलखंड में तालाब खुदवाए

सूखाग्रस्त बुंदेलखण्ड में कुछ गरीबों के घास की रोटी खाने के मामले का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि जिस तरह साग खाने का समय होता है, वैसे ही कुछ चीजों का अपना समय होता है। बुंदेलखण्ड में सरकार एक बड़े कार्यक्रम के साथ काम करने जा रही है। हमने तालाब खुदवाये और नदियां जिंदा की हैं। समाजवादी पार्टी बुंदेलखंड के लोगों का दर्द समझती है।