विकास को तरस रहा है मझिगवां लोहिया ग्राम

विकास को तरस रहा है मझिगवां लोहिया ग्रामgaonconnection

मझिगवां (सीतापुर)। बेहतर विकास के लिए लोहिया समग्र ग्राम विकास योजना में गाँव का चयन तो हो गया, लेकिन चार महीने बाद भी गाँव में विकास कार्यों की शुरुआत नहीं हो पायी। सीतापुर जिले के रामपुर मथुरा ब्लॉक के मझिगवां ग्राम पंचायत को चार महीने लोहिया समग्र ग्राम योजना में शामिल किया गया है। मझिगवां ग्राम पंचायत में शंकरपुर, मझिगवां, चतुरीपन और मौर्यनगर गाँव हैं। चार महीने बीत जाने के बाद भी विकास कार्य शुरू न होने से ग्रामीण खुद को ठगा महसूस कर रहे हैं।

शंकरपुर गाँव के राम संजीवन कुशवाहा (45 वर्ष) कहते हैं, “जब पता चला कि हमारा गाँव लोहिया ग्राम हो गया है तो लगा कि हमारे गाँव में भी विकास होगा, लेकिन चार महीने के बाद भी प्रधान ने एक काम नहीं शुरू किया।” वो आगे कहते हैं, “हमारी पंचायत में चार गाँव हैं, सभी में सड़क की हालत खराब है।”

साल 2016-17 के लिए लोहिया ग्राम चयनित होने से ग्राम वासियों में विकास की एक उम्मीद जगी थी, लेकिन अब तक गाँव में सड़क, बिजली, नाली, खड़ंजा, लोहिया आवास सहित विकास से जुड़े किसी भी विभाग ने अपना कार्य प्रारंभ नहीं किया है। राम मनोहर लोहिया समग्र ग्राम विकास योजना सम्पूर्ण प्रदेश में लागू की गयी है। इस योजना का मुख्य उदेद्श्य प्रदेश के ऐसे राजस्व ग्रामों को विकास की मुख्य धारा से जोड़ना है जो विकास की आधारभूत सुविधाओं से वंचित हैं। मझिगवां के ग्राम विकास अधिकारी कुलदीप कुमार बताते हैं, “अभी चार महीने हुए हैं, हम तो सारे काम कर नहीं सकते हैं, अभी ऊपर से ही आदेश नहीं आया हैं। जब ऊपर से आदेश आएगा तभी हम काम शुरू कर पाएंगे।” रामपुर मथुरा ब्लॉक के खंड विकास अधिकारी दयाराम यादव बताते हैं, “साल 2016-17 में चयनित ग्राम पंचायतों में अभी कार्ययोजना तैयार की जा रही है, जैसे ही तैयार हो जाएगी काम शुरू कर दिया जाएगा।”

Tags:    India Sitapur 
Share it
Top