ताज़ा ख़बर

तंबाकू उत्पादों पर चेतावनी से जुड़े नए नियमों से गुजरात के किसान परेशान

नई दिल्ली (भाषा)। सरकार द्वारा तंबाकू उत्पादों की पैकिंग के 85 प्रतिशत हिस्से पर चेतावनी छापने के फैसले के विरोध में सिगरेट और बीड़ी निर्माताओं ने अपना काम रोक दिया है जिसके कारण गुजरात में तंबाकू की बिक्री प्रभावित हुई है।

देश में कुल तंबाकू रकबे का 48 प्रतिशत गुजरात में आता है। गुजरात तंबाकू मर्चेंट्स एसोसिएशन ने कहा कि राज्य में करीब साढ़े चार लाख किसान तंबाकू की खेती से जुड़े हुए हैं। वो इस समय परेशानियों से घिरे हुए हैं क्योंकि निर्माताओं को फसल बेचने का सबसे बेहतर समय अप्रैल होता है। उसने सरकार से कहा कि वो इस मसले पर एक मध्य और संतुलन का मार्ग अपनाए और तंबाकू किसानों को राहत पहुंचाए। इसके लिए वो 85 प्रतिशत चेतावनी छापने के अलोकतांत्रिक नियम को हटाए। सरकार ने एक अप्रैल से तंबाकू उत्पादों की पैकिंग के 40 प्रतिशत हिस्से की बजाय 85 प्रतिशत हिस्से पर चेतावनी छापने का नियम बनाया है।